भारतीय मीडिया पर जाकिर नाइक ने बोला हमला

नई दिल्ली (9 जुलाई): इस्लामिक उपदेश देने वाले जाकिर नाइक ने भारतीय मीडिया पर हमला बोलते हुए कहा कि बिना तथ्‍यों की जांच किए बगैर उनके बारे में गलत खबरें दिखाई जा रही हैं। जाकिर ने मीडिया को चुनौती दी है कि वे बांग्लादेशी सरकार का आधिकारिक बयान दिखा दें कि ढाका के हमलावर उसने प्रभावित थे।

जाकिर ने कहा है कि मैंने बांग्लादेश में सैन्य अधिकारियों से बात की, जिन्होंने मुझे बताया कि ऐसा कुछ नहीं है। वहां के एक अखबार ने इस तरह की खबर को बिना किसी तथ्‍य के साथ प्रकाशित किया तो भारतीय मीडिया भी उसी को चलाने लगा। किसी ने खबर चलाने से पहले इसके तथ्‍यों की जांच करने की कोई जरूरत नहीं समझी। उन्होंने कहा कि बांग्लादेश में उन्हें 90 फीसदी लोग जानते हैं और 50 फीसदी से ज्यादा उनके फैन हैं। हमलावर आतंकी भी मेरे फैन हो सकता है, लेकिन उन्होंने उन्हें निर्दोष लोगों की हत्या करने को प्रेरित नहीं किया था।

जाकिर ने मीडिया पर हमला करते हुए कहा कि जब भी कोई सूचना मिले तो उसे किसी और को देने से पहले उसकी जांच करनी चाहिए, लेकिन इस मामले में ऐसा नहीं किया गया। अगर मीडिया ने थोड़ा भी रिसर्च कर ली होती तो वे ऐसा नहीं लिखते, जैसे उनके बारे में इस समय लिखा जा रहा है। उन्होंने अपने आप को कई देशों में बैन किए जाने की खबर को भी गलत बताया है और कहा है कि उन्हें सिर्फ एक बार ब्रिटेन जाने से रोका गया था। उन्होंने कहा कि 3 साल पहले उन्हें मलयेशिया के किंग और वहां के पीएम ने वहां का सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया था, जो आमतौर पर मलयेशियाई नागरिकों को ही दिया जाता है और कभी-कभार ही किसी विदेशी को दिया जाता है। तो वह उसे कैसे बैन कर सकता है।