विश्व कैंसर दिवस: युवराज सिंह को मिली एक नई जिंदगी

नई दिल्ली ( 5 फरवरी ): युवराज सिंह अजेय है, कई लड़ाइयों में से उन्होंने ने एक लड़ाई कैंसर से जीती है। युवराज सिंह अब लोगों को कैंसर के खिलाफ जागरूक कर रहे हैं। उन्होंने इसके लिए YouWeCan के नाम से एक पहल शुरू की है जो लोगों को कैंसरे के बारे में जागरुक करता है और कैंसर से से बचाने में उनकी मदद करता है।कैंसर से जंग जीतने के बाद मैदान पर युवराज की वापसी ने कई लोगों के लिए उदाहरण पेश किया है। 2011 वर्ल्ड कप के बाद युवराज सिंह को कैंसर हो गया था। उन्होंने इस बीमारी से लड़ाई जीतने के बाद क्रिकेट के मैदान पर वापसी की।युवराज सिंह ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में बताया कि अपने करियर चरम था तो उस वक्त मुझे कैंसर की बीमारी से लड़ना पड़ा। लड़ाई मुश्किल थी, लेकिन मैंने उस पर विजय पाई। मैंन उसके बाद बहुत बड़ा सबक सीखा। यह समझना बहुत मुश्किल है कि आप महज एक साधारण आदमी हैं और आपके साथ कुछ भी हो सकता है। "क्रिकेट के बाद भी एक जिंदगी होती है." अब मैं एक बदला हुआ व्यक्ति हूं।  इससे पहले मेरे लिए सबकुछ क्रिकेट था, लेकिन अब अपने जीवन की तरफ देखता हूं।