10 दिन की दुल्हन... दुल्हे को लेकर फरार

केजे श्रीवत्सन, जयपुर,(7 सितंबर): जिस दुल्हन को 90 हजार रूपए देकर और बड़ी ही धूम धाम से शादी करवाकर लाया गया था। वहीँ दुल्हन शादी के महज़ 10 दिनों बाद ही अपने मानसिक विक्षप्त पति और घर के सारे कीमती सामान को लेकर फरार हो गई। मामला जयसिंहपुर खेडा का है और पुलिस डेढ़ महीने बीत जाने के बावजूद भी अभी तक दोनों का पता नहीं लगा पायी है।

क्या है पूरा मामला

दिल्ली से पैसे देकर लाई गई दुल्हन है, मात्र 10 दिन रूककर जगदीश नाम के शख्स के मानसिक रूप से विक्षिप्त बेटे विकास के साथ रातों-रात फरार हो गई। विकास 3 बहनों पर जगदीश का इकलौता बेटा है, लेकिन जगदीश की जिद थी कि वह अपने वंश को आगे बढ़ाए। इसीलिए उसकी मुलाकात महेन्द्रगढ़ जिले के गांव खुड़ाना निवासी कृष्ण से हुई। कृष्ण ने उसे सब्जबाग दिखाते हुए कहा कि वह उसके बेटे की शादी करवा देगा, लेकिन इसके लिए उसे लाखों रूपए खर्च करने होंगे।

जगदीश ने शादी कराने की एवज में उसे 90 हजार रूपए दे दिए। इसके बाद कृष्ण जगदीश को लेकर दिल्ली के नजफगढ़ स्थित चंचल पार्क पहुंचा, जहां उसे लडक़ी दिखाई गई और बताया गया कि लडक़ी की मौसी व मां भी यहीं पर हैं। सारी बातें करने के बाद जगदीश ने मंदिर में जाकर दोनों की शादी करवा दी और नई दुल्हन को लेकर अपने घर आ गए। गत 17 जुलाई को जब सुबह परिवार के लोग उठे तो उन्होंने देखा की नई दुल्हन और उनका बेटा गायब है। गहने और नए कपडे भी घर से इन दोनों के साथ गायब थे. इसकी सूचना उन्होंने पुलिस को दी, लेकिन पुलिस उन्हें गुमराह करती रही कि दोनों अपने आप घर लौट आएंगे।