ये काम कर आप भी उठा सकते हैं प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ

नई दिल्ली ( 7 दिसंबर ): प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत बिना हिसाब के पैसे को डिक्लेयर करने के लिए सरकार ने तीन स्टेप तय किए हैं। इस स्कीम की सबसे अहम बात यह है कि अगर किसी ने अवैध तरीके से पैसा कमाया है तो वह इस योजना का फायदा नहीं उठा सकता है। इसके अलावा अगर कोई इस योजना के तहत अपना पैसा डिक्लेयर करने की प्रक्रिया में जानकारी छिपाता है गलत जानकारी देता है तो उसे इस स्कीम का फायदा नहीं मिलेगा और स्कीम के तहत जमा कराया गया टैक्स और पेनल्टी भी वापस नहीं मिलेगी।

डिक्लेयरेशन के लिए बैंक या पोस्ट ऑफिस में जमा करना होगा पैसा

अगर किसी के पास बिना हिसाब का पैसा या काला धन है और वह इस योजना का फायदा उठाना चाहता है तो वह इस पैसे को कैश में नहीं रख सकता है। उसे इस पैसे को बैंक या पोस्‍ट ऑफिस में जमा कराना होगा। 8 नवंबर से नोट बंदी लागू होने के बाद 500 रुपए और 1,000 रुपए के पुराने नोट की कोई कीमत नहीं रह गई है। ऐसे किसी को भी इस योजना का फायदा लेने के लिए कैश बैंक या पोस्‍ट ऑफिस में जमा कराना होगा। इसके बाद ही वह डिपॉजिट पर इस स्कीम का फायदा उठा सकता है।  

डिपॉजिट पर चुकाएं टैक्स प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का फायदा उठाने के लिए किसी को भी जमा रकम पर 30 फीसदी टैक्स, टैक्स पर 33 फीसदी सरचार्ज और 10 फीसदी पेनल्टी देनी होगी। यह जमा की गई रकम का लगभग 50 फीसदी होगा। इसके अलावा डिक्लेयर की गई रकम का 25 फीसदी हिस्सा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत जमा कराना होगा। इस रकम पर कोई इंटरेस्ट नहीं मिलेगा और यह रकम 4 साल तक ब्लाॅक रहेगी।

पैसा डिक्लेयर करने के लिए भरना होगा फॉर्म

बैंक में पैसा जमा करने के बाद व्यक्ति को प्रिंसिपल कमिश्नर या कमिश्नर के पास डिक्लेयरेशन के जरिए पैसा डिक्लेयर करना होगा। डिक्लेयरेशन के लिए सरकार द्वारा तय किया गया फार्म भरना होगा और इसके बाद इसे वेरीफाई किया जाएगा। डिक्लेयरेशन के साथ आपको बैंक में जमा कराई गई रकम और पर उस पर दिए गए टैक्‍स का प्रूफ भी जमा कराना होगा।

डिक्लेयर किया गया पैसा इनकम में नहीं होगा शामिल अगर कोई व्यक्ति प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत अपना पैसा डिक्लेयर करता है तो यह पैसा उसकी इनकम में शामिल नहीं माना जाएगा। यानी की अगर किसी ने अपना पैसा इस स्कीम के तहत डिक्लेयर  कर दिया तो इसके बाद उस पैसे पर किसी और स्कीम के तहत सवाल नहीं उठाया जा सकता है।

जानकारी छिपाने पर नहीं मिलेगा स्कीम का फायदा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत बिना हिसाब का पैसा डिक्लेयर करते हुए अगर कोई व्यक्ति जानकारी छिपाता है या गलत जानकारी देता है तो उसका डिक्लेयरेशन रद्द हो जाएगा और स्कीम के तहत चुकाया गया टैक्स और पेनल्टी भी वापस नहीं मिलेगी।