योगी सरकार ने 38 साल पुरानी कॉलोनी को बताया अवैध, चलेगा बुलडोजर

पीयूष गौड़, गाजियाबाद (3 जुलाई): गाजियाबाद के अंबेडकरनगर के 10 हजार परिवार इन दिनों मुश्किल में हैं। वजह है एक नोटिस जिसने पल भर में ही इस कॉलोनी में रहने वाले लोगों की नींद उड़ा दी है। upsidc की नोटिस में इस कॉलोनी को अवैध करार दिया गया है। नोटिस मिलने के बाद सदमे से एक व्यक्ति की मौत भी हो गई।


दरअसल अंबेडकरनगर के लोगों को यूपीएसआईडीसी ने एक नोटिस भेजा है, जिसमें पूरी कॉलोनी को अवैध बताया गया है। नोटिस के बाद से पूरी कॉलोनी में हड़कंप मच गय़ा है। 10 हजार घरों पर बुलडोजर का खतरा मंडरा रहा है। यूपीएसआईडीसी के इस नोटिस के विरोध में अंबेडकरनगर कॉलोनी के लोग थाने जा पहुंचे। लोगों का कहना है कि उनके पास कॉलोनी से जुड़े सारे सरकारी दस्तावेज मौजूद हैं। ऐसे में इतने सालों बाद एक नोटिस के दम पर इनसे इनका आशियाना कैसे छीना जा सकता है।


लोगों का आरोप है कि 1978 में बसी इस कॉलोनी को 38 साल बाद सरकार आखिर कैसे अवैध करार दे सकती है। अथॉरिटी और सरकार तब कहां थे जब ये कॉलोनी बसाई जा रही थी। 3 दशक से ज्यादा समय से लोग यहां अपने परिवारों के साथ रह रहे हैं। ऐसे में एक नोटिस थमाकर 10 हजार से ज्यादा परिवारों को इस तरह कैसे बेघर किया जा सकता है।


वीडियो: