योगी सरकार की रडार पर बिजली चोर, अब सीधे जाएंगे जेल

पीयूष आचार्य/आनंद तिवारी, वाराणसी (30 अप्रैल): योगी सरकार के रडार पर अब यूपी के बिजली चोर हैं। विभाग को करोड़ों का चूना लगाने वालों की अब शामत आने वाली है। प्रदेश भर में अब बिजली चोरी को लेकर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। कटिया लगाकर बिजली की हो रही रोकने के लिए छापेमारी की जा रही है।


वाराणसी के बेनिया इलाके में मौजूद एफएमसीजी होलसेल के बड़े बाजार में ही बिजली का उपकेंद्र भी है। लेकिन आप ये जानकर हैरान रह जाएंगे कि यहां बड़े पैमाने पर कटिया लगाकर बिजली की चोरी की जा रही थी। विभाग की कार्रवाई में चोरी की बिजली से दुकानों में बड़े-बड़े बल्व जलते पाए गए। यही नहीं चौक इलाके में कटिया लगाकर घरों को भी रोशन किया जा रहा था। हद तो ये है कि रंगेहाथ पकड़े जाने पर भी लोग बहाने बनाने में जुटे रहे।


जांच में बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां पाई गईं। लिहाजा कनेक्शन काटने की कार्रवाई भी की गई। छापेमारी में 3 कटिया चोर पकड़े भी गए। सरकार की कोशिश लोगों को 24 घंटे बिजली मुहैया कराने की है। केंद्र की तरफ से भी ये साफ कर दिया गया है कि बिजली चोरी रोकने पर ही ऐसा संभव हो पाएगा।


वाराणसी के अलावा कानपुर में भी बिजली चोरी रोकने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी गई है। कानपुर इलेक्ट्रीसिटी सप्लाई कंपनी यानी केस्को ने शहर के अलग-अलग इलाकों में कटियाबाजों के खिलाफ अभियान चलाया। 48 कटिया कनेक्शन को लेकर केस्को की तरफ से आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट भी दर्ज करा दी गई है।


अब पूरे प्रदेश में बिजली चोरी रोकने के लिए अधिकारी और कर्मचारी एक्शन में नजर आ रहे हैं। संदेश साफ है, अब कटियाबाजी नहीं चलेगी।