योगी सरकार में सामने आया घोटाला, सरयू नदी पर ही बैंक ने दे दिया लोन

 Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, वसीम सिद्दीकी, बस्ती (9 जनवरी): भले ही यूपी में बीजेपी की सरकार भ्रष्‍टाचार को खत्म करने का दावा करती हो, लेकिन रोजाना ऐसी खबर आती है जिससे पता चलता है कि आम आदमी को भ्रष्‍टाचारियों से कोई राहत नहीं मिली हो। हालांकि इस बारे में योगी सरकार का कहना है कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। अब उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में एक अनोखा बैंक घोटाला सामने आया है।

यहां बैंक के अधिकारियों ने सरयू नदी पर ही लोन पास कर दिया। वहीं अब मामले का खुलासा होने पर बैंक के अधिकारियों से जबाव देते नहीं बन रहा है। नदी का कटाव इतना बढ़ गया कि भानुप्रताप नाम के शख्स की जमीन नदी में ही चली गई। लेकिन इस पर अब जो विवाद हुआ है, वह योगी सरकार की नाक में दम करने के लिए काफी है।

दरअसल, बस्ती के IDBI बैंक ने एक ऐसी ज़मीन पर लोन पास कर दिया है जो है नहीं। चौंकिए मत, ये सच है, बैंक ने दुबौलिया ब्लाक के धुसवा गांव के लालबिहारी सिंह (भानुप्रताप का चाचा) को 6 लाख 70 हजार सात सौ पच्चीस रुपये का लोन पास किया हैं। जिस जमीन पर लोन लिया उसकी जाकानरी बैंक मैनेजनर को नहीं दी गई। साथ ही मौके पर जाकर निरीक्षण भी नहीं किया गया। आपको ये जानकर हैरानी होगी ये जमीन पिछले 25 सालो से नदी में समाई हुई है और ये इस फ्रॉड को अंजाम दिया है।

इस मामले का खुलासा तब हुआ जब लालबिहारी के भतीजे भानू प्रताप को इस बात की जानकारी हुई। वहीं अब बैंक के आधिकारिय़ों से मामले पर जवाब देने नहीं बन रहा है और वो रकम की रिकवरी के लिए नोटिस पर नोटिस भेजे जा रहे हैं। इस जमीन में भानुप्रताप का भी हिस्सा, जो अपने चाचा की करतूत का खामियाजा भुगत रहे हैं।