योगी राज में भी नहीं बदले हालात, सरकारी एंबुलेंस में ढोई जा रही हैं सवारी

वसीम अहमद, बस्ती (5 मई): यूपी में मरीजों को लाने-ले जाने के लिए भले ही एंबुलेंस सेवा नहीं मिलती हो, लेकिन सवारियों के ढोने में इसका खूब इस्तेमाल हो रहा है। बस्ती में एंबुलेंस से सवारियां ढोने का वीडियो इन दिनों खूब वायरल हो रहा है।


अखिलेश सरकार ने 108 एंबुलेंस की सेवा शुरू की थी। ताकि लोगों को वक्त पर इलाज मिल सके। ताकि गांव के लोग अस्पताल पहुंच सकें, लेकिन अब इस एंबुलेंस में सवारियां ढोई जा रही हैं। हैरान कर देने वाला ये मामला बस्ती का है। यहां आजकल एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें बस अड्डे पर एंबुलेंस का ड्राइवर सवारी भरते हुए नजर आ रहा है। एंबुलेंस का नंबर है-यूपी 41 जी 3067। इसपर मोटे-मोटे अक्षरों में लिखा है 108 एंबुलेंस, लेकिन इसी एंबुलेंस से एक-एक कर पांच सवारियां उतर रही हैं।


ड्राइवर की ये मनमानी सामने आई, तो आला अफसरों में हड़कंप मच गया। डीएम ने सीएमओ को फोन किया। कहा जांच कीजिए, कार्रवाई कीजिए। ये जनाब बस्ती के कार्यवाहक सीएमओ हैं। लेकिन बहुत लाचार हैं। कह रहे हैं कि हम सिर्फ लेटर ही लिख सकते हैं, झगड़ा नहीं कर सकते।


साहेब सिर्फ लेटर ही लिख सकते हैं। कार्रवाई हो या ना हो इससे इनका कोई मतलब नही। एंबुलेंस का ड्राइवर भी स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से परिचित है। शायद यही वजह है कि उसने एंबुलेंस को सवारी गाड़ी में तब्दील कर दिया है।