अब संस्कृत भाषा में भी जारी होगी योगी सरकार की प्रेस रिलीज

yogi

Image:Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 जून): उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार ने संस्कृत भाषा के उत्थान के लिए एक अनूठी पहल की। अब प्रदेश सरकार हिंदी, अंग्रेजी के अलावा संस्कृत भाषा में भी प्रेस नोट जारी करेगी। सीएम के निर्देश पर मुख्यमंत्री कार्यालय व सूचना विभाग ने कवायद शुरू कर दी। सोमवार को प्रेस नोट का एक नमूना भी जारी किया गया। इस तरह सीएम योगी संस्कृत भाषा में प्रेस नोट जारी करने वाले पहले मुख्यमंत्री बने हैं। हालांकि, यह स्पष्ट किया गया है कि संस्कृत में प्रेस नोट जारी करने का अर्थ यह नहीं है कि हिंदी में विज्ञप्ति जारी करना बंद हो जाएगा।

फरवरी माह में लोकभवन में उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थानम सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था। इसमें शिरकत करने पहुंचे सीएम योगी ने कहा था कि मुझे आश्चर्य है कि संस्कृत माध्यमिक परिषद का गठन सूबे में 17 साल बाद हुआ। पूरे प्रदेश में सभी विद्यालयों में संस्कृत की कार्यशाला अभियान के रूप में चलाई जाए। संस्कृत मां है, वो बहू-बेटी नहीं हो सकती है। संस्कृत से जुड़ी पांडुलिपियों को संग्रहित करना और फिर संस्कृत के विद्यार्थियों को शोध के लिए प्रेरित करना होगा। संस्कृत सनास्थान का बजट दुगने से ज्यादा बढ़ाया है। संस्कृत के प्रचार प्रसार के लिए जितने भी धन की जरूरत होगी हम लगाएंगे।

सूचना विभाग के निदेशक शिशिर ने ने बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि भाषण और आवश्यक संदेश हिंदी, अंग्रेजी के अलावा संस्कृत में भी तैयार किये जाएं। इसके लिए संस्कृत भाषा के विशेषज्ञ रखे जाएं। उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान के अधिकारियों से बात कर मुख्यमंत्री के प्रमुख भाषणों और आवश्यक संदेशों का संस्कृत में अनुवाद करने का काम शुरू हो गया है। संस्कृत संस्थान में अनुवाद करने वाले संस्कृत के जानकारों को सरकार की ओर से उचित मानदेय दिए जाने की व्यवस्था की गई है।

हालांकि अधिकारियों ने यह स्पष्ट किया है कि संस्कृत में भाषण और संदेश जारी करने का अर्थ यह नहीं है कि हिंदी और अंग्रेजी में विज्ञप्ति जारी नहीं की जाएगी। नीति आयोग की बैठक में मुख्यमंत्री के भाषण का प्रेस नोट संस्कृत में भी जारी किया गया। सूचना विभाग के निदेशक ने कहा कि अब मीडिया को हिंदी अंग्रेजी के अलावा संस्कृत भाषा में भी मुख्यमंत्री के भाषण और संदेशों की प्रेस विज्ञप्तियां नियमित मिलेंगी।