गेहूं क्रय केंद्रों पर किसी भी प्रकार की अव्यवस्था बर्दाश्त नहीं की जाएगी: मुख्यमंत्री योगी

नई दिल्ली ( 13 अप्रैल ): उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा, ''गेहूं क्रय केंद्रों पर किसी भी प्रकार की अव्यवस्था बर्दाश्त नहीं की जाएगी। किसानों को किसी भी तरह की कोई दिक्कत हुई तो अधिकारी परिणाम भुगतने को तैयार रहें।


सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, ''गेहूं खरीद के उपरान्त खरीद मूल्य का भुगतान किसान को 48 से 72 घंटे में कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि किसान को क्वालिटी के नाम पर अनावश्यक परेशान न किया जाए। किसी भी प्रकार की किसानों को समस्या हुई तो अधिकारी जिम्मेदार होंगे।


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (पीडीएस) में व्यापक सुधारों की आवश्यकता है। एसडीएम से राशन कोटे की दुकान के निलंबन का अधिकार वापस लेने के निर्देश तत्काल प्रभाव से लागू किए जाएं।


उन्होंने कहा कि खाद्य एवं रसद विभाग में एक ही स्थान में लम्बे समय तक तैनात कार्मिकों की सूची बनाकर उनका ट्रांसफर किया जाए। योगी ने कहा कि राज्य स्तर पर थर्ड श्रेणी के कार्मिकों को ट्रांसफर की नीति बनाकर समय-समय पर पोस्ट किया जाए। बीपीएल परिवारों का नया सर्वे जल्द से जल्द करवाने की तैयारी की जाए।


सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गेहूं केंद्रों के संचालक खरीद एजेंसी के साथ को-ऑर्डिनेशन बनाएं। इसके भंडारण के लिए सहकारिता विभाग के तहत उपलब्ध भंडारण ग्रहों को यूज करें। किसान साफ-सुथरा गेहूं ही क्रय केंद्रों पर लेकर जाएं।


सीएम ने पिछले खाद्यान्न घोटाले का जिक्र करते हुए कहा कि आवश्यकता पड़ने पर इसकी फिर से जांच कराई जाएगी।''