CM योगी को काले झंडे दिखाने वाले 8 छात्रों को लखनऊ विश्वविद्यालय ने किया निलंबित

लखनऊ (7 जून): लखनऊ विश्वविद्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काफिले को रोकने और काले झंडे दिखाने के मामले में 8 छात्रों को यूनिवर्सिटी प्रशासन ने निलंबित कर दिया गया है। आपको बता दें की 7 जून को समाजवादी छात्रसभा के कार्यकर्ताओं ने सीएम के काफिले को रोक लिया था और उन्हें काले झंडे दिखाने की कोशिश की थी। वहीं इस मामले पुलिस ने अंकित सिंह बाबू, अनिल यादव, महेंद्र यादव, पूजा शुक्ला, अपूर्वा सहित 14 छात्र-छात्राओं को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया था। सभी छात्र-छात्राओं पर 7-CLA एक्ट सहित आईपीसी 147, 149, 161, 162, 332, 353, 504 व 506 के तहत हसनगंज थाने में केस दर्ज किया गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में इतनी बड़ी चूक के बाद लखनऊ एसएसपी दीपक कुमार ने छह पुलिसकर्मियों को तत्काल निलंबित कर दिया गया था। सीएम योगी की सुरक्षा में इतनी बड़ी चूक के लिए चिनहट थाने के एसआई वीरेंद्र यादव सहित कांस्टेबल जीवन सहाय, विजेंद्र, अलाउद्दीन, आत्मेंद्र व देवेंद्र को प्रथम दृष्टया दोषी पाया गया।

आपको बता दें कि छात्रों के विरोध के बावजूद सीएम योगी कार्यक्रम में पुंहुचे और संबोधि‍त CM योगी ने कहा कि जब मैं आ रहा था तो कुछ छात्र इसका विरोध कर रहे थे कि हिंदवी स्वराज नाम क्यों रखा गया। उन्होंने कहा कि जो इतिहास नहीं जानता वो भूगोल की रक्षा नहीं कर सकता, ये उनकी मानसिकता दि‍खा रही है। दरअसल, लखनऊ यूनिवर्सिटी में बुधवार को छत्रपति शिवाजी महाराज की याद में हिंदवी स्वराज्य दिवस समारोह आयोजित किया गया। सीएम योगी आदित्यनाथ प्रोग्राम में चीफ गेस्ट थे।