अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई कानूनसंगत, शाकाहार बेहतर: योगी आदित्यनाथ

नई दिल्ली (2 अप्रैल): आरएसएस के मुखपत्र 'पांञ्चजन्य' को दिए गए इंटरव्यू में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम जन्म भूमि से लेकर अवैध बूचड़खानों पर अपनी राय रखी। उन्होंने अवैध बूचड़खानों पर की जा रही कार्रवाई को कानूनसंगत बताया।


योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने 2015 में और हाईकोर्ट ने 2017 में यूपी के अवैध बूचड़खानों पर तमाम टिप्पणियां कीं और राज्य सरकार को कुछ निर्देश दिए। हमने इसी तर्ज पर अपनी कार्रवाई शुरू की है। अवैध को आप वैध नहीं बोल सकते। शासन का साफ निर्देश है, जो मानक को पूरा कर रहा है, लाइसेंस है उसे कोई नहीं छेड़ेगा। अगर छेड़ेगा तो दंड का अधिकारी होगा। लेकिन जो अवैध हैं वह तो अवैध ही हैं। अवैध बूचड़खानों के नाम पर जनस्वास्थ्य खराब करने की छूट नहीं दी जा सकती। हमने वैधानिक तरीके से कार्रवाई की है।


योगी आदित्यनाथ ने कहा कोई शाकाहारी बनेगा तो स्वस्थ्य भी रहेगा। फिर भी लोगों की अपनी आवश्यकता हो सकती है, लेकिन मैं यह मानता हूं कि व्यक्ति जितना सात्विक होगा, उतना सदाचारित होकर काम करने में आनंदित हो सकता है। हर व्यक्ति का अपना स्वाद हो सकता है। मैं किसी व्यक्ति पर कुछ बोल भी नहीं सकता और प्रतिबंध भी नहीं लगा सकता। भारत के संविधान ने उन्हें स्वतंत्रता दी है, पर एक दायरे में रहकर। जो चीजें अवैध हैं, उनके मामले में अदालत के आदेश का अक्षरश पालन करने के लिए सरकार कटिबद्ध है।