योगी, मौर्या और दिनेश शर्मा नहीं लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

नई दिल्ली (4 अगस्त): उत्तर प्रदेश में सीएम की कुर्सी पर काबिज योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव मौर्या और डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, 4 एमएलसी की सीट हो चुकी खाली और अब केवल एक सीट की आवश्यकता है, जबकि बीजेपी को पांच सीट की जरूरत है।

योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च को यूपी के सीएम पद की शपथ ली थी। अब उन्हें छह महीने में एमएलए या एमएलसी बनना पड़ेगा। 19 सितंबर को ये डेडलाइन खत्म हो जाएगी। अब तक उन्होंने लोकसभा से इस्तीफा नहीं दिया है। चुनाव के लिए कम से कम तीन हफ्ते पहले अधिसूचना जारी होती है।

सीएम योगी के अलावा दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या और दिनेश शर्मा को भी यूपी के किसी सदन का सदस्य बनना पड़ेगा। केशव इलाहाबाद के पास फूलपुर से लोकसभा सांसद हैं। इसके अलावा परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह और अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रजा भी अभी ना तो एमएलए हैं और ना ही एमएलसी।

अब तक समाजवादी पार्टी के तीन और बीएसपी के एक एमएलसी इस्तीफा दे चुके है जबकि बीजेपी को पांच सीट की जरूरत है। समाजवादी पार्टी के एक और एमएलसी अखिलेश यादव से नाराज बताए जाते हैं, वे कभी भी इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो सकते है। अगर ऐसा हुआ तो अमित शाह का मिशन पूरा हो जाएगा।