CM योगी बोले: चंद्रशेखर ने कहा था- फौजदारी के मामले और शादी विवाह समान तो यूनिफॉर्म सिविल कोड क्यों नहीं?'


लखनऊ(17 अप्रैल): उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की जयंती पर किताब 'संसद में दो टूक' का विमोचन किया। इस कार्यक्रम के दौरान उन्होंने तीन तलाक के मुद्दे पर बड़ा बयान दिया।

 

सीएम योगी ने इस मामले में कहा कि तीन तलाक महिलाओं के अधिकारों का हनन है, फिर भी इस मुद्दे पर कुछ लोगों का मुंह बंद है, ऐसे लोग अपराधी की तरह हैं। उन्होंने इस मामले में द्रोपदी के चीरहरण का भी उदाहरण दिया।

 

सीएम योगी ने तीन तलाक के मुद्दे पर कहा कि तीन तलाक पर कुछ लोगों ने अपना मुंह बंद कर रखा है। देश की कई समस्याओं पर कुछ लोग कुछ भी नहीं बोल रहे हैं, चाहे वह कश्मीर या श्रीलंका की समस्या हो।

 

उन्होंने कहा कि जब भारत एक है तो देश में कॉमन सिविल कोड क्यों नहीं है, राजनीति संविधान के दायरे में होनी चाहिए। इस मौके पर चंद्रशेखर की जमकर तारीफ करते हुए योगी ने कहा कि चंद्रशेखर समान नागरिक कानून के पक्ष में थे।

 

योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'चंद्रशेखर जी ने कहा था कि अगर हमारे फौजदारी के मामले और शादी विवाह समान हैं तो यूनिफॉर्म सिविल कोड क्यों नहीं?'