सीएम योगी बोले , सड़क पर नमाज नहीं रोक सकते तो थानों में जन्माष्टमी रोकने का हक नहीं

नई दिल्ली(17 अगस्त): त्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा बयान दिया है। उऩ्होंने कहा कि अगर सड़क पर नमाज पढ़ने की इजाजत मिलती है तो थानों में जन्माष्टमी मनाने की भी अनुमति मिलनी चाहिए।

- दरअसल, योगी आदित्यनाथ ने ये बयान पिछली सरकार से जोड़कर दिया। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के लोग जो खुद को यदुवंशी कहते हैं, उन्होंने पुलिस स्टेशन और पुलिस लाइंस में जन्माष्टमी के आयोजनों पर रोक लगाई थी।

- योगी आदित्यनाथ लखनऊ में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान योगी आदित्यनाथ ने कांवड़ यात्रा का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, ''कांवड़ यात्रा के दौरान अधिकारियों ने मुझे बताया कि डीजे और म्यूजिक सिस्टम के इस्तेमाल पर बैन है। मैंने कहा कि ये कांवड़ यात्रा है या शव यात्रा? अरे कांवड़ यात्रा में बाजे नहीं बजेंगे, डमरू नहीं बजेगा, ढोल नहीं बजेगा, चिमटे नहीं बजेंगे, लोग नाचेंगे नहीं, माइक नहीं बजेगा तो वो यात्रा कांवड़ यात्रा कैसे होगी?''

- आदित्यनाथ ने प्रशासन से सभी धार्मिक स्थलों से कोई आवाज बाहर न आने देने की बात कही थी। योगी ने बताया, ''मैंने प्रशासन से कहा कि मेरे सामने एक आदेश पारित करिए कि माइक हर जगह के लिए प्रतिबंधित होनी चाहिए। हर जगह बैन करो और ये तय करिए कि किसी भी धर्मस्थल में, उसके दायरे से बाहर, उसकी आवाज नहीं आनी चाहिए। क्या इसको लागू कर पाएंगे? अगर लागू नहीं कर सकते हैं तो फिर इसको भी हम लागू नहीं होने देंगे, यात्रा चलेगी।''