यूपी के हर नागरिक के लिए विकास का काम करेंगे: मुख्यमंत्री योगी


नई दिल्ली ( 21 मार्च ): उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को लोकसभा में वित्त विधेयक पर अपनी राय रखी। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नोटबंदी के बाद दुनिया यह देखना चाहती थी कि इस फैसले के बाद दुनिया किस दिशा में जा रही है। हमारी विकास की ग्रोथ ने उन लोगों को बताया कि यह फैसला सही था। मुख्यमंत्री ने कहा कि यूपी में दंगा नहीं होने दूंगा।


योगी आदित्यनाथ एक किस्सा सुनाते हुए कहा कि जब पहली बार इस सदन में आया था, उस वक्त में 26 साल का था, मैं बहुत पतला था। जब यहां आता था जब यहां उवर्कर और रसायन मंत्री आधा घंटा घूरते रहे, पूछा गोरखपुर से आए हैं, तीन बार पूछा। मैंने उनसे पूछा आप ऐसा क्यों बोल रहे हैं, तो उन्होंने कहा कि वहां रैली के लिए गया और दोनों तरफ से बम चलने लगा तो फिर मैं चला आया। गोरखपुर के बारे में ये सुन कर मुझे धक्का लगा।


योगी ने कहा कि इस देश की सरकार आम लोगों को समर्पित होकर कार्य करेगी। यह सरकार किसानों के लिए गंभीर है। मोदी सरकार के पहले किसानों के पास खाते नहीं होते थे। किसानों को अपना चेक जमा करने के लिए पांच सौ खर्च करके खाता खुलवाना पड़ता था। अब इस सरकार ने जनधन योजना के तहत खाते खुलवाए। इसी तरह महिलाओं की दशा को सुधारने के लिए सरकार ने बड़े कदम उठाए।

योगी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी ने सड़कों का मॉडल दिया और आज तेजी के साथ कार्य प्रारंभ हुआ है।