राम मंदिर को लेकर अयोध्या में शिवसेना की जनसभा रद्द, योगी सरकार ने नहीं दी अनुमति

                                                                                                                Image Source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 नवंबर):  2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर सियासी गलियारों में सियासत लगातार चरम पर है। ऐसे में आरोप-प्रत्यारोपों के दौर के साथ ही चुनावी मुद्दों की हवा भी गर्म है। इन दिनों अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा भी इस चुनावी बयार में सुर्खियों में बना हुआ है। इस बीच खबर आ रही है कि 25 नवंबर को अयोध्या में होने वाली शिवसेना की सभा रद्द कर दी गई है।

 बता दें कि यूपी सरकार की ओर से उद्धव ठाकरे के जन संवाद कार्यक्रम को अनुमति नहीं मिली है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अब 24 नवंबर को अयोध्या में संतों से आशीर्वाद लेंगे और फिर अगले दिन यानी 25 नवंबर को रामलला के दर्शन के बाद मुम्बई वापस लौट जाएंगे।

इस पूरे मामले को लेकर शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने इसकी पुष्टि की है। बता दें कि शिवसैनिकों को अयोध्या लाने के लिए दो ट्रेनों को बुक किया गया है। पहली ट्रेन मुंबई से 22 नवंबर को और दूसरी ट्रेन नासिक से 23 नवंबर को रवाना होगी।

गौरतलब है कि शिवसेना ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि पार्टी इसे राजनीतिक मुद्दा बना रही है। यही वजह है कि शिवसेना ने आगामी 25 नवंबर को बीजेपी के खिलाफ अयोध्या में जनसभा करने का ऐलान किया था। इसके लिए पार्टी ने तैयारियां पूरी कर ली थी और उसे इस जनसभा के लिए विश्व हिंदू परिषद यानि वीएचपी का साथ भी मिल रहा था। वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया पहले भी बीजेपी से नाराज रह चुके हैं और उसकी खिलाफत में आवाज बुलंद कर चुके हैं।