CM योगी का अधिकारियों को कड़ा निर्देश, एक भी नाला गोमती में न गिरे

लखनऊ(27 मार्च): उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार सुबह गोमती रिवर फ्रंट पहुंचे। उनके साथ रीता बहुगुणा जोशी और दिनेश शर्मा भी मौजूद थे। इनके अलावा वहां पर गोमती रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारी भी मौजूद थे। वहां पर योगी आदित्यनाथ ने गोमती रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट पर हुए खर्च का ब्योरा मांगा।


- योगी आदित्यनाथ के इस निरीक्षण का मुख्य उद्देश्य इस प्रोजेक्ट की सारी जानकारी लेनी थी और यह सुनिश्चित करना था कि किसी भी तरह का भ्रष्टाचार इस प्रोजेक्ट में न हो।


- गोमती रिवर फ्रंट पर योगी आदित्यनाथ से करीब 40 मिनट तक अधिकारियों से बात की। उन्होंने वहां नदी में गिर रहे नाले पर सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर यह नाला गोमती नदी में क्यों गिर रहा है। उन्होंने अधिकारियों को आदेश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए कि एक भी गंदा नाला गोमती नदी में ना गिरे।


- आपको बता दें कि इस प्रोजेक्ट का लोकार्पण 16 नवंबर 2016 को उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किया था। इस प्रोजेक्ट की कुल लागत करीब 1400 करोड़ रुपए है, जिसमें से लगभग 900 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं।