ओलंपियन योगेश्वर की हुई सगाई, दहेज में मांगे इतने रुपये

सोनीपत (15 जनवरी): 2012 के लंदन ओलिंपिक के कांस्य पदक विजेता रेसलर योगेश्वर दत्त शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं।  योगेश्वर दत्त 16 जनवरी को दिल्ली में शीतल के साथ सात फेरे लेंगे। उन्होंने अपनी होने वाली पत्नी शीतल की अंगुली में अगूंठी पहनाई और टीका रस्म अदा की। इस मौके पर योगेश्वर ने महज 1 रुपया रस्म के तौर पर लेकर उदाहरण पेश किया।

योगेश्वर हरियाणा के कांग्रेस नेता जयभगवान शर्मा की बेटी से शादी करने वाले हैं। उनकी होनी वाली पत्नी का नाम शीतल है। शनिवार (14 जनवरी) को योगेश्वर और शीतल की सगाई हुई। सगाई का कार्यक्रम सोनीपत के मुरथल में हुआ था। गाई समारोह में खेल जगत की कई नामी हस्तियां मौजूद रहीं।

34 साल के योगेश्वर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैंने देखा है कि मेरे परिवार के लोगों ने अपनी लड़कियों के लिए कितनी मुश्किल से दहेज का पैसा जुटाया था। उनको कितनी परेशानी उठानी पड़ी मैं जानता हूं। उसके बाद मैंने बड़े होते हुए सिर्फ दो ही चीजें सोची थीं। पहली बात तो यह है कि मैं कुश्ती में बड़ा मुकाम हासिल करूंगा और दूसरा कि दहेज नहीं लूंगा।

मेरा पहला सपना पूरा हो गया है। अब दूसरे सपने और वादे को पूरा करने का वक्त है। योगेश्वर ने आगे कहा कि काश उनकी शादी को देखने के लिए उनके पिता रामेश्वर दत्त और मास्टर सतबीर सिंह जिंदा होते। योगेश्वर ने कहा कि उनकी इच्छा थी कि उनका दूसरा सपना पूरा होते हुए देखने के लिए उनके पिता और कोच जिंदा होते। खबरों के मुताबिक योगेश्वर की मां सुशीला देवी ने कहा कि योगेश्वर की शादी उनके लिए खास मौका है। उन्होंने यह भी कहा कि वह दुल्हन के परिवार से एक रुपए के अलावा कुछ और नहीं लेंगी।

योगेश्वर की मंगेतर शीतल अध्यापक पात्रता परीक्षा पास करने के बाद सोनीपत से बीए कर रही हैं। शीतल कांग्रेसी नेता जयभगवान शर्मा की इकलौती बेटी हैं। जयभगवान शर्मा ने 2009 में सफीदों से हरियाणा जनहित कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ा, लेकिन हार गए। बाद में कुलदीप बिश्नोई के साथ कांग्रेस में शामिल हो गए है।