ISIS को तबाह करेंगी ये 'क़ातिल हसीनाएँ'

नई दिल्ली (11 फरवरी): अबू बकर अल बगदादी और उसके खूंखार दरिंदों को चकमा देकर सीरिया से भाग निकली यहूदी महिलाओं ने आईएसआईएस के खिलाफ सशस्त्र सेना खड़ी कर ली है।

इन्होंने इस सेना का नाम 'फोर्स ऑफ द सन लेडीज' रखा है। 'डेली मेल डॉ़ट को डॉट यूके' में छपी खबर के मुताबिक 'फोर्स ऑफ द सन लेडीज'की ब्रिगेड कुर्दिश लड़ाकों के साथ जल्द ही इराकी शहर मोसुल से आतंकी कब्जा छुड़वाने के लिए हमला करेंगी। इस महिला ब्रिगेड का कहना है कि वो आतंकियों के साथ ठीक वैसा ही सलूक करेंगी जैसा उन्होंने उनके साथ किया था।

आईएसआईएस ने यहूदी इलाकों पर हमला करके लगभग 5000 लोगों को बंदी बनाया था जिसमें ज्यादातर महिलाँ और लड़कियां थीं। वो इनकी बोली लगाते और गुलाम बना कर रखते थे।

यूनाइटेड नेशन्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक आईएसआईएस के कब्जे में अब भी हजारों लोग कैद हैं। इनमें यजीदी महिलाओं और लड़कियों की संख्या ज्यादा है।