Blog single photo

रक्षा के क्षेत्र में राफेल जैसा घोटाला आजतक नहीं हुआ: अरुण शौरी

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में सीएम ममता बनर्जी की रैली में पहुंचे अरुण शौरी ने भी केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊपर जमकर हमला बोला है। उन्होंने सरकार पर राफेल में घोटाले का आरोप लगाते

Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 जनवरी): पश्चिम बंगाल के कोलकाता में सीएम ममता बनर्जी की रैली में पहुंचे अरुण शौरी ने भी केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊपर जमकर हमला बोला है। उन्होंने सरकार पर राफेल में घोटाले का आरोप लगाते हुए कहा कि इस सरकार ने रक्षा के क्षेत्र में जैसा घोटाला किया है वैसा आजतक किसी सरकार में नहीं हुआ।

अरुण शौरी ने कहा, ''मोदी को भी इस बात का एहसास हो चुका है कि उनकी जड़ें हिल चुकी हैं, इसलिए अब वे किसी भी हद तक जा सकते हैं। किसी और सरकार ने पहले इतने झूठ नहीं बोले। इससे पहले कभी भी इस तरह से संस्थानों को खत्म करने की कोशिश नहीं की गई। उन्होंने कहा कि मोदी और शाह से लोगों को एतबार उतर गया है, लेकिन हमें यह तय करना होगा कि हम सभी साथ रहें और हर प्रदेश में इस तरह की रैली हो जैसी ममता जी ने यहां आयोजित की है। गुजरात में विपक्ष एक होकर लड़ता तो बीजेपी सत्ता में नहीं आती. विपक्ष एकजूट होकर ही मोदी को हटा सकता है. सत्ता से मोदी को हटाने के लिए विपक्ष को एकजूट होकर अर्जून बनना पड़ेगा।

एक सोच, ए‍क विचारधारा को हटाना है: यशवंत सिन्हा

यशवंत सिन्हा ने कहा कि मुझे पता है कि बीजेपी की इस महारैली पर क्या रिएक्शन होगा। वे कहेंगे कि हम एक व्यक्ति जो कि इस देश के प्रधानमंत्री है, उसको हटाने के लिए एकजुट हुए हैं। लेकिन हम यहां एक विचार को हटाने के लिए खड़े हुए हैं। पिछले 56 महीनों में देश का लोकतंत्र खतरे में आया है। हमारे सामने मोदी मुद्दा नहीं हैं, हमारे सामने मुद्दे मुद्दा हैं। मेरा सभी लोगों से आग्रह है कि मोदी को मुद्दा नहीं बनाएं, मुद्दों को मुद्दा बनाएं। उन्होंने कहा, ''वे लोग कहेंगे कि हम लोग यहां इकट्ठे हुए एक आदमी को हटाने के लिए, लेकिन हम यहां इकट्ठे हुए एक सोच, एक विचारधारा के विरोध में।'' बीजेपी के पूर्व नेता ने कहा कि यह पहली सरकार है जो आंकड़ों में छेड़छाड़ करती है। आज ऐसा माहौल है कि जैसे ही आप सरकार का विरोध करते हैं आपको देशद्रोही करार दे दिया जाता है। ऐसा लगता है जैसे सरकार की चापलूसी देशप्रेम है और सरकार का विरोध देशद्रोह। उन्होंने मंच पर मौजूद सभी नेताओं से आग्रह करते हुए कहा कि मैं तो फकीरी की ओर हूं, मुझे कुछ नहीं चाहिए। बस मेरा एक ही लक्ष्य है कि इस सरकार को बाहर करें। इसके लिए जरूरी है कि सभी तय करें कि बीजेपी के प्रत्याशी के सामने हमारा एक ही उम्मीदवार खड़ा हो। अगर ऐसा हुआ तो बीजेपी का सफाया निश्चित है। उन्होंने पहले नारा दिया कि सबका साथ सबका विकास। उन्होंने सबका साथ लिया लेकिन सबका विनाश भी कर दिया।

Tags :

NEXT STORY
Top