हमारे सामने मोदी मुद्दा नहीं, एक सोच, ए‍क विचारधारा को हटाना है: यशवंत सिन्हा


Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 जनवरी): पश्चिम बंगाल के कोलकाता में ममता बनर्जी की विशाल रैली में पहुंचे बीजेपी के पूर्व वरिष्‍ठ नेता यशवंत सिन्हा ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले 56 महीनों में देश में जो कुछ भी हुआ, वह देश की लोकशाही के लिए खतरा है। ऐसी कोई संवैधानिक संस्था नहीं है, जिसे इन्होंने बर्बाद करने की कोशिश नहीं की हो।

यशवंत सिन्हा ने कहा कि मुझे पता है कि बीजेपी की इस महारैली पर क्या रिएक्शन होगा। वे कहेंगे कि हम एक व्यक्ति जो कि इस देश के प्रधानमंत्री है, उसको हटाने के लिए एकजुट हुए हैं। लेकिन हम यहां एक विचार को हटाने के लिए खड़े हुए हैं। पिछले 56 महीनों में देश का लोकतंत्र खतरे में आया है। हमारे सामने मोदी मुद्दा नहीं हैं, हमारे सामने मुद्दे मुद्दा हैं। मेरा सभी लोगों से आग्रह है कि मोदी को मुद्दा नहीं बनाएं, मुद्दों को मुद्दा बनाएं। उन्होंने कहा, ''वे लोग कहेंगे कि हम लोग यहां इकट्ठे हुए एक आदमी को हटाने के लिए, लेकिन हम यहां इकट्ठे हुए एक सोच, एक विचारधारा के विरोध में।''

बीजेपी के पूर्व नेता ने कहा कि यह पहली सरकार है जो आंकड़ों में छेड़छाड़ करती है। आज ऐसा माहौल है कि जैसे ही आप सरकार का विरोध करते हैं आपको देशद्रोही करार दे दिया जाता है। ऐसा लगता है जैसे सरकार की चापलूसी देशप्रेम है और सरकार का विरोध देशद्रोह। उन्होंने मंच पर मौजूद सभी नेताओं से आग्रह करते हुए कहा कि मैं तो फकीरी की ओर हूं, मुझे कुछ नहीं चाहिए। बस मेरा एक ही लक्ष्य है कि इस सरकार को बाहर करें। इसके लिए जरूरी है कि सभी तय करें कि बीजेपी के प्रत्याशी के सामने हमारा एक ही उम्मीदवार खड़ा हो। अगर ऐसा हुआ तो बीजेपी का सफाया निश्चित है। उन्होंने पहले नारा दिया कि सबका साथ सबका विकास। उन्होंने सबका साथ लिया लेकिन सबका विनाश भी कर दिया।