दुनिया की सबसे उम्रदराज महिला ने 117 साल की उम्र में जिंदगी को कहा अलविदा

नई दिल्ली ( 17 अप्रैल ): दुनिया की सबसे उम्रदराज महिला ने दुनिया को अलविदा कह दिया। 117 साल की एमा मोरेनो ने शनिवार को इटली के वर्बेनिया में आखिरी सांस ली।


29 नवंबर 1899 को पैदा हुई एमा मोरेनो का पता मौत मानो भूल ही गई हो, लेकिन जब आखिरी घड़ी आई तो एमा अपने घर पर कुर्सी में आराम से लेटी हुई थीं। उनके डॉक्टर के मुताबिक वो शुक्रवार को एमा से मिले थे। एमा ने उनका शुक्रिया अदा किया था। डॉक्टर ने बताया कि पिछले कई दिनों से एमा खामोश रहती थीं और ज्यादातर वक्त सोकर बिताती थीं।



एमा का मंगेतर पहले विश्व युद्ध में मारा गया था। इसके बाद उन्हें एक ऐसे शख्स से शादी करनी पड़ी जो उनसे जबरदस्ती करता था। मुसोलिनी के फासीवाद के उस दौर में महिलाओं से उम्मीद की जाती थी कि वो पति का हर हुक्म मानें। इसके बावजूद एमा ने अपने पति को 1938 में छोड़ दिया।


एमा को 19वीं सदी का आखिरी जिंदा इंसान माना जाता था। वो कहती थीं कि उनकी लंबी उम्र का राज उनके परिवार की जीन्स में छिपा है। उनकी मां 91 साल तक जिंदा रहीं। उनकी एक बहन ने 102 साल की उम्र में दुनिया को विदा कहा था। दूसरी बहन ने भी जिंदगी का शतक लगाया था। करीब 20 साल की उम्र से एमा हर रोज 3 अंडे खाती थीं। इनमें से 2 को वो कच्चा खाती थीं।