दुनिया के सबसे बूढ़े कुत्ते की 30 साल की उम्र में मौत

नई दिल्ली (19 अप्रैल) :  दुनिया में सबसे उम्रदराज़ माने जाने वाले कुत्ते 'मैगी द केल्पी' ने बीते सप्ताह आखिरी सांस ली। इस मादा कुत्ते की उम्र 30 साल थी। ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया प्रांत के वूल्सथ्रॉप के रहने वाले कुत्ते के मालिक ब्रायन मैक्लारेन ने 'द वीकली टाइम्स' से उसकी मौत की पुष्टि की है।  

ब्रायन ने कहा, उसकी उम्र 30 साल थी। पिछले हफ्ते तक वो ठीक-ठाक थी। वो डेयरी से ऑफिस तक आती थी और बिल्लियों को गुर्राने जैसे सभी काम करती थी। लेकिन मरने से दो दिन पहले उसकी तबीयत ख़राब होनी शुरू हो गी।

मैगी के नाम दुनिया में सबसे अधिक समय तक जीवित रहने वाले कुत्ते का रिकॉर्ड दर्ज हो सकता था। लेकिन दुर्भाग्य से ब्रायन के पास ऐसे कोई दस्तावेज़ नहीं है जिससे उसकी उम्र को साबित किया जा सके। इसका अर्थ है कि स्वतंत्र तौर पर मैगी की उम्र की पुष्टि नहीं की जा सकती।

अभी तक सबसे अधिक उम्र वाले कुत्ते का रिकार्ड ऑस्ट्रेलिया के ही विक्टोरिया के रोचेस्टर में रहने वाला ब्लूई था। उसकी मौत 29 साल 5 महीने की उम्र में हुई थी। गिनीज़ बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के मुताबिक ब्लूई को 1910 में जन्म के बाद एक गडेरिये ने पाला था। नवंबर 1939 में मौत से पहले तक ब्लूई भेड़ों को चराने में अपने मालिक की मदद करता रहा था। औसतन कुत्तों की उम्र 8 से 15 साल के बीच रहती है।