न गोली न ऑपेरशन-अनचाहे गर्भ से मुक्ति दिलायेगी ये एप्लीकेशन

नई दिल्ली (13 फरवरी): दुनिया भर में धूम मजा रहे गर्भनिरोक ऐप को ब्रिटिश सरकार की मंजूरी मिल गई है। मार्केट में मौजूद कॉन्डम, पिल्स और आईयूडी जैसे सुरक्षित सेक्स के पारंपरिक तरीकों के तकनीकी विकल्प के तौर पर उपलब्ध इस ऐप को ब्रिटिश सरकार की मंजूरी देदी है। हफिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक नैचुरल साइकल नामक इस ऐप को ब्रिटेन सरकार की मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रॉडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी की तरफ से यूरोपियन रेगुलेटरी बॉडी टीयूवी एसयूडी की मंजूरी मिल गई है। यह ऐप पारंपरिक तरीकों से 99 फीसदी अधिक प्रभावी साबित हो रहा है। इसको इस्तेमाल करने के लिए किसी भी महिला को अपनी जीभ के नीचे के तापमान को दर्ज कर हर सुबह इस ऐप में दर्ज करना होगा। यह दर्शाएगा कि उस दिन महिला कितनी फर्टाइल है।

तापमान दर्ज करने पर अगर यह हरी होगी तो इसका मतलब है कि महिला की उस दिन प्रजनन क्षमता नहीं है और प्रेगनेंसी का रिस्क बेहद कम है। लेकिन वहीं अगर यह लाल हो जाता है तो इसका मतलब है कि प्रयोगकर्ता महिला की प्रजनन क्षमता बहुत ज्यादा है तथा बगैर सुरक्षा के सेक्स करना खतरे से खाली नहीं है। वर्तमान में इस ऐप का इस्तेमाल 161 देशों की 1 लाख 50 हजार महिलाएं कर रही हैं। इस ऐप के भरोसे का अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि इसे बनाने वालों में डॉक्टर एलिना बेर्गलुंड और उनके पति डॉक्टर राउल शेरवित्ज शामिल हैं। दोनों उन वैज्ञानिकों में शुमार हैं जिन्होंने हिग्स बोसॉन कणों की खोज की थी, जिसे 2013 में नोबल पुरस्कार मिला था।