Russia Ukraine War: रूस-यूक्रेन युद्ध के 4 महीने पूरे, दुनिया को चुकानी पड़ रही है बड़ी कीमत

Russia Ukraine War: रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के आज 4 महीने पूरे हो गए। लेकिन इस युद्ध का फिलहाल अंत होता नहीं दिख रहा है। दोनों देशों के बीच युद्ध को खत्म करने को लेकर कई दौर की वार्ता भी हो चुकी है लेकिन अबतक कोई हल नहीं निकल पाया है

Russia Ukraine War: रूस-यूक्रेन युद्ध के 4 महीने पूरे, दुनिया को चुकानी पड़ रही है बड़ी कीमत
x

Russia Ukraine War: रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के आज 4 महीने पूरे हो गए। लेकिन इस युद्ध का फिलहाल अंत होता नहीं दिख रहा है। दोनों देशों के बीच युद्ध को खत्म करने को लेकर कई दौर की वार्ता भी हो चुकी है लेकिन अबतक कोई हल नहीं निकल पाया है। कई देशों इस युद्ध को जल्द से जल्द खत्म कराने के लिए अपनी तरफ से लगातार कोशिश भी रहे हैं, लेकिन इसका भी परिणाम अभी तक नहीं निकल पाया है। इस युद्ध में न तो राष्ट्रपति पुतिन पीछे हट रहे हैं और न ही यूक्रेन के राष्ट्रपति हार मानने को तैयार हैं। जेलेंस्की का कहना है कि हम रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की शर्तों के तहत समझौता नहीं करेंगे।  


इस बीच एक साक्षात्कार के दौरान नाटो के महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने अनुमान लगाया कि युद्ध में महीनों के बजाय वर्षों लग सकते हैं। ब्रिटिश सेना के भावी प्रमुख पैट्रिक सैंडर्स ने दावा किया है कि ब्रिटेन के सशस्त्र बलों को रूस के साथ जमीनी युद्ध लड़ने के लिए उन्मुख होने की आवश्यकता है। और फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने यूक्रेन के लिए अपना स्पष्ट समर्थन दिया है। लेकिन इस सब के बावजूद पुतिन के लिए विस्तृत राजनयिक 'ऑफ रैंप' का सपना देखने का कोई मतलब नहीं है, जब यह पूरी तरह से स्पष्ट है कि उन्हें इसकी कोई आवश्यकता नहीं है। यह तो 24 फरवरी को यूक्रेन पर रूस के आक्रमण से पहले ही तय लग रहा था कि क्रेमलिन यूएसएसआर के भू-रणनीतिक स्वरूप के नजदीक कुछ हासिल करने से कम में संतुष्ट होने वाला नहीं है।





और पढ़िए - कंगाली की राह पर पाकिस्तान, चीन को सौंप सकता है गिलगित-बाल्टिस्तान




गौरतलब है कि 24 फरवरी 2022 को सुबह-सुबह जब रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने यूक्रेन पर हमले का औपचारिक ऐलान किया था तब तक रूसी वायुसेना यूक्रेन के सौ से अधिक सैन्य ठिकानों पर कुछ ही मिनट पहले बमबारी कर चुकी थी, सीमा के प्रहरियों और बाड़बंदी की ताकत को मसल रूसी सेना की टुकड़ियां यूक्रेन के शहरों में घुस चुकी थीं, राजधानी कीव पर बमवर्षक विमान बमबारी शुरू कर चुके थे। पुतिन ने जंग का ऐलान किया और कहा कि यूक्रेन की सेना हथियार डाले और घर जाए तभी बच पाएंगे सैनिक।


यूक्रेन के दावे के मुताबिक इस युद्ध में अबतक रूस के 34 हजार सैनिकों की जान जा चुकी है। जबकि 1500 रूसी टैंक, 756 आर्टिलरी सिस्टम, 99 एंटी एयरक्राफ्ट डिफेंस सिस्टम, 216 फाइटर जेट और 183 हेलिकॉप्टर को यूक्रेनी सेना ने मार गिराया है।


वहीं रूसी का दावा है कि यूक्रेन का काफ नुकसान का है। यूक्रेन से 80 लाख लोग देश छोड़कर भाग चुके हैं। औसतन रोज यूक्रेन के 200 सैनिकों की मौत हो रही है। इस युद्ध में अब तक 24 हजार से अधिक यूक्रेनी सैनिकों की जान जा चुकी है। यूक्रेन के लगभग सभी बड़े शहर रूसी बमबारी की तबाही झेल रहे हैं।









और पढ़िए -  दुनिया से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें







 

Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story