Russia Ukraine War Live: यूक्रेन संकट पर पीएम मोदी की हाई लेवल मीटिंग, यूपी से लौट रहे हैं दिल्ली

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध का आज चौथा दिन है, जिससे हालात लगातार बिगड़ते जा रही है। तमाम कोशिश और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आलोचना के बाद भी रूस अपने कदम पीछे हटाने को तैयार नहीं है।

Russia Ukraine War Live:  यूक्रेन संकट पर पीएम मोदी की हाई लेवल मीटिंग, यूपी से लौट रहे हैं दिल्ली
x

नई दिल्लीः रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध का आज चौथा दिन है, जिससे हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। तमाम कोशिश और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आलोचना के बाद भी रूस अपने कदम पीछे हटाने को तैयार नहीं है। रूस लगातार यूक्रेन के सैन्य ठिकानों और रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर बमबारी कर रहा है। यूक्रेन ने भी रूस के कई जंगी जहाज गिरान व जवानों को मारने का दावा किया है। दूसरी ओर फ्रांस सहित कई यूरोपियन देशों ने यूक्रेन का साथ देने का ऐलान किया है। अमेरिका ने भी रूस के रवैये को गलत ठहराया है। 


लाइव अपडेट...


यूक्रेन में जारी जंग को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के दौरे को बीच में ही छोड़ दिया है। वो दिल्ली लौट रहे हैं, दिल्‍ली पहुंचते ही वह यूक्रेन संकट पर हाई लेवल मीटिंग करेंगे।



-यूक्रेन-रूस जंग के बीच अच्छी खबर सामने आई है। रूसी स्टेट मीडिया ने दावा किया है कि यूक्रेन बेलारूस में रूस के साथ वार्ता करने के लिए तैयार हो गया है। 



-यूक्रेन सरकार ने दावा किया है कि उसकी सेनाओं ने खारकीव पर रूस से कब्जा वापस ले लिया है और रूसी सैनिकों को खदेड़ दिया है।


-यूक्रेन ने दावा किया है कि अब तक लड़ाई में लगभग 4,300 रूसी सैनिक मारे गए हैं। साथ ही लगभग 146 टैंक, 27 विमान और 26 हेलीकॉप्टर को तबाह कर दिया गया है।




-सुरक्षा परिषद की विशेष बैठक आज रात 1:30 होने वाली है। इस बैठक में यूक्रेन-रूस के बीच जारी युद्ध को लेकर फैसले लिए जाएंगे।


-रूसी राष्ट्रपित पुतिन ने रूसी सैनिकों का हौसला बढ़ाया है। पुतिन ने कहा कि आप पूर देश के हीरो हैं।


-रूसी सेना यूक्रेन में तबाही मचा रहे हैं इस बीच ब्रिटेन ने चेतावनी दी है कि रूस अगर नहीं रुका को NATO इस जंग मे कूद सकता है।


-यूक्रेन रेलवे की ओर से कीव से पहले आओ पहले पाओ के आधार पर आपातकालीन ट्रेन चलाई जा रही है। इस बारे में एक ट्वीट कर जानकारी दी गई है कि इस सुविधा के लिए कोई भी शुल्क नहीं लिया जाएगा। ट्रेनों का शेड्यूल स्टेशनों पर देखा जा सकता है। 


- युद्ध के बीच रूस के बातचीत के प्रस्ताव को यूक्रेन ने ठुकरा दिया है। 

- यूक्रेन से युद्ध के बीच रूस ने एक बार फिर बातचीत का प्रस्ताव दिया है। इसके लिए रूस का एक डेलिगेशन बेलारुस पहुंच चुका है। 


यूक्रेन में आम लोगों की जान भी खतरे में हैं। रूस ने राष्ट्रीय राजधानी की घेराबंदी के लिए एयर रेड अलर्ट चेतावनी जारी कर दी है। दरअसल जंग के चौथे दिन के हालात ऐसे हैं कि यहां रूसी सेना अब कीव में कब्जे की तैयारी है। खारकीव में सेना घुस चुकी है। ऐसे में कीव में दहशत का माहौल है। कीव में खतरे से सायरन गूंज रहे हैं। हुलिया बदलकर रूसी फौज के घुसने की आशंका जताई गई है।


- स्वीडन यूक्रेन को सैन्य, तकनीकी और मानवीय सहायता दे रहा है। फ्रांस ने यूक्रेन को 300 मिलियन यूरो और सैन्य उपकरण देनी घोषणा की है तो ब्रिटेन भी ‘लॉजिस्टिक्स ऑपरेशन' में मदद की पेशकश की है।


- यूक्रेन की राष्ट्रीय राजधानी खारकीव में रूसी सेना ने धमाका कर पाइप लाइन ही उड़ा दी, जिसका असर स्थानीय लोगों की जिंदगी पर भी पड़ सकता है। पाइप लाइन फटते ही आसमान में धुए की गुबार देखी जा रही है, जिससे लोगों का मुंह को कपड़े से ढकने की सलाह दी गई है। 


- वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अमेरिकी विदेश विभाग को एक आदेश जारी किया है। इसमें उन्होंने निर्देश दिया कि यूक्रेन को सैन्य सहायता के लिए 350 मिलियन डॉलर की सहायता दी जाए। साथ ही अमेरिका की ओर से यूक्रेन को अतिरिक्त सैन्य सहायता में बख्तर-रोधी उपकरण, छोटे हथियार और विभिन्न प्रकार के गोला-बारूद और अन्य चीजें भी दी गई हैं।


स्टेट सर्विस ऑफ स्पेशल कम्युनिकेशन एंड इंफॉर्मेशन प्रोटेक्शन की तरफ से रूसी हमले के बाद चेतावनी दी गई है कि स्थानीय लोग अपने घरों की खिड़कियां न खोलें। साथ ही सलाह दी गई है कि लोग अपनी नाक पर गीला कपड़ा रखें, ताकि उन्हें सांस लेने में दिक्कत ना हो। जीतना हो उतना पानी पिएं।


- यूक्रेन से युद्ध के बीच रूस को अपने सबसे करीबी दोस्त चीन से बड़ा झटका लगा है। चीन ने आर्थिक प्रतिबंधों पर रूस का साथ देने से इनकार कर दिया है।


- रूस और यूक्रेन के बीच छिड़ी जंग का आज चौथा दिन है। रूस पीछे हटने को तैयार नहीं है।  





Next Story