रूस-यूक्रेन युद्ध मे कूदा जर्मनी, यूक्रेन को 1000 एंटी टैंक सिस्टम देना का फैसला

रूस के खिलाफ पूरा यूरोप एकजूट हो गया है। आज जर्मनी ने भी रूस के प्रति अपने कड़े तेवर दिखाए हैं। जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ का कहना है कि वह यूक्रेन को हथियार पहुंचाएंगे

रूस-यूक्रेन युद्ध मे कूदा जर्मनी, यूक्रेन को 1000 एंटी टैंक सिस्टम देना का फैसला
x

नई दिल्ली: रूस के खिलाफ पूरा यूरोप एकजूट हो गया है। आज जर्मनी ने भी रूस के प्रति अपने कड़े तेवर दिखाए हैं। जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ का कहना है कि वह यूक्रेन को हथियार पहुंचाएंगे, साथ ही इस साल रक्षा खर्च में  100bn डॉलर  की वृद्धि करेंगे और रूस पर निर्भरता कम करने के लिए नए घरेलू एलएनजी टर्मिनलों का निर्माण करेंगे।


ओलाफ स्कोल्ज़ ने कहा कि यूक्रेन लोकतंत्र के लिए लड़ रहा है। उन्होंने रूस को चेतावनी देते हुए कहा कि रूस के लिए ये युद्ध बर्बादी लेकर आएगा। जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज़ ने यूक्रेन को 1000 एंटी टैंक सिस्टम और 500 स्टिंगर मिसाइलें देने की घोषणा की है। फ्रांस, बेल्जियम, पौलेंड, चेक गणराज्य और नीदरलैंड ने भी यूक्रेन की अपील पर जल्द ही हथियार भेजने की घोषणा की है। 


 वहीं ब्रिटेन की फॉरेन मिनिस्टर लिज ट्रूस ने एक बड़ा ऐलान किया है। लिज ने कहा कि हमारी सरकार ब्रिटेन के उन नागरिकों की मदद करेगी जो यूक्रेन जाकर रूस के खिलाफ जंग में हिस्सा लेने चाहते हैं। 


जापान के अरबपति हिरोशी मिकी मिकीतानी ने यूक्रेन को 87 लाख डॉलर डोनेट करने का ऐलान किया है। मिकी के नाम से मशहूर हिरोशी ने कहा- रूस का हमला एक और नजर से देखा जाना चाहिए। वास्तव में यह हर लोकतंत्र के लिए एक चुनौती है और हर डेमोक्रेसी को इसका मिलकर मुकाबला करना चाहिए। मिकी ने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोल्दोमिर जेलेंस्की को एक लेटर भी लिखा है।


इस बीच यूक्रेन ने दावा किया है कि अब तक लड़ाई में लगभग 4,300 रूसी सैनिक मारे गए हैं। साथ ही लगभग 146 टैंक, 27 विमान और 26 हेलीकॉप्टर को तबाह कर दिया गया है। यूक्रेन की जनता अब रूसी सेना के खिलाफ हथियार उठा चुकी है. सड़कों पर आम नागरिक उतर आएं हैं और रूसी सेना को रोकने की कोशिश कर रहे हैं।


Next Story