दुष्कर्म के बढ़ते मामलों के कारण पाकिस्तान के पंजाब में लगने जा रही है इमरजेंसी!

पंजाब के गृह मंत्री अट्टा तरार ने कहा कि ऐसी घटनाओं में वृद्धि समाज और सरकारी अधिकारियों के लिए एक गंभीर मुद्दा है। उन्होंने कहा, 'दुष्कर्म के मामलों से निपटने के लिए प्रशासन ने आपातकाल घोषित कर दिया है।'

दुष्कर्म के बढ़ते मामलों के कारण पाकिस्तान के पंजाब में लगने जा रही है इमरजेंसी!
x

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत ने महिलाओं और बच्चों के खिलाफ यौन शोषण के मामले तेजी से बढ़ने के बीच 'आपातकाल' घोषित करने का फैसला किया है। सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए, पंजाब के गृह मंत्री अट्टा तरार ने कहा कि ऐसी घटनाओं में वृद्धि समाज और सरकारी अधिकारियों के लिए एक गंभीर मुद्दा है।


जियो न्यूज ने उनके हवाले से कहा, 'पंजाब में प्रतिदिन दुष्कर्म के चार से पांच मामले सामने आ रहे हैं, जिसके कारण सरकार यौन उत्पीड़न, दुर्व्यवहार और जबरदस्ती के मामलों से निपटने के लिए विशेष उपायों पर विचार कर रही है।'


उन्होंने कहा, 'दुष्कर्म के मामलों से निपटने के लिए प्रशासन ने आपातकाल घोषित कर दिया है।'






और पढ़िए - Earthquake in Afghanistan: अफगानिस्तान में 6.1 तीव्रता के भूकंप से हाहाकार, 950 लोगों की मौत, 600 से अधिक घायल







मंत्री ने कहा कि मामले में नागरिक समाज, महिला अधिकार संगठनों, शिक्षकों और वकीलों से सलाह ली जाएगी। इसके अलावा, उन्होंने माता-पिता से अपने बच्चों को सुरक्षा के महत्व के बारे में सिखाने का आग्रह किया।


तरार ने कहा कि कई मामलों में आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। सरकार ने दुष्कर्म विरोधी अभियान शुरू किया है और छात्रों को स्कूलों में उत्पीड़न के बारे में सचेत किया जा रहा है। 


गृह मंत्री ने कहा कि अब माता-पिता के लिए यह सीखने का समय है कि अपने बच्चों की सुरक्षा कैसे करें। उन्होंने कहा कि सरकार तेजी से डीएनए नमूनों की संख्या बढ़ाएगी। बता दें कि पाकिस्तान लिंग हिंसा की महामारी से जूझ रहा है और देश में सभी वर्गों में महिलाओं के खिलाफ हिंसा से जूझ रहा है।


ग्लोबल जेंडर गैप इंडेक्स 2021 रैंकिंग के अनुसार, पाकिस्तान 156 देशों में से इराक, यमन और अफगानिस्तान के ठीक ऊपर 153वें स्थान पर है।








और पढ़िए -  दुनिया से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें







 

Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story