Blog single photo

विश्व युवा शतरंज चैंपियनशिप: 14 साल के प्रागनानंदा का कमाल, जीता गोल्ड मेडल

भारत के सबसे युवा और दुनिया के दूसरे सबसे युवा ग्रैंडमास्टर आर प्रागनानंदा ने बड़ा कारनामा किया है। जर्मनी के वालेंटिन बकल्स खेले जा रहे विश्व युवा शतरंज चैंपियनशिप के अंडर-18 ओपन वर्ग में 14 साल के प्रागनानंदा ने गोल्ड मेडल हांसिल किया है

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 अक्टूबर): भारत के सबसे युवा और दुनिया के दूसरे सबसे युवा ग्रैंडमास्टर आर प्रागनानंदा ने बड़ा कारनामा किया है। जर्मनी के वालेंटिन बकल्स खेले जा रहे विश्व युवा शतरंज चैंपियनशिप के अंडर-18 ओपन वर्ग में 14 साल के प्रागनानंदा ने गोल्ड मेडल हांसिल किया है। चेन्नई के 14 साल के ग्रैंडमास्टर ने 11वें और अंतिम दौर में जर्मनी के वालेंटिन बकल्स ने ड्रा खेला जिससे वह नौ अंक लेकर शीर्ष पर रहे। भारत ने उनके स्वर्ण के अलावा छह और पदक हासिल किए जिसमें तीन रजत शामिल है।

आपको बता दें कि भारत के आर प्रागनानंदा देश के सबसे युवा और विश्व के दूसरे सबसे युवा ग्रैंडमास्टर हैं। प्रागनानंदा 12 साल, 10 महीने और 13 दिन की उम्र में ग्रैंड मास्टर बने थे। उन्होंने इटली में ग्रेनडाइन ओपन के अंतिम दौर में पहुंचकर यह उपलब्धि हासिल की थी। गौरतलब है कि उक्रेन के सर्गेई कार्जाकिन अब भी सबसे युवा ग्रैंडमास्टर हैं। उन्होंने 2002 में 12 साल, सात महीने में यह उपलब्धि हासिल की थी।

Tags :

NEXT STORY
Top