रूस ने अमेरिकी हॉटलाइन तोड़ी, वर्ल्ड वॉर की आशंका और बढ़ी

नई दिल्ली (9 अप्रैल): सीरिया के आर्मी बेस पर अमेरिकी हमले से रूस बुरू तरह बौखला गया है।  रूसी पीएम दिमित्री मेदवेदेव ने चेतावनी दी है कि मॉस्को और वॉशिंगटन के बीच सैन्य टकराव सिर्फ एक इंच की दूरी पर है। इस बीच ट्रंप ने राष्ट्रीय सुरक्षा टीम के साथ बैठकों के बाद सीरिया पर मिसाइल हमलों को हरी झंडी दे दी है।

सीरियाई एयरबेस पर 59 टॉमहॉक क्रूज मिसाइलें दागने के बाद रूस ने अमेरिका से अपना हॉटलाइन संपर्क काट दिया है। इस हॉटलाइन से रूस और अमेरिका सीरिया में सैन्य कार्रवाई के बारे में एक-दूसरे को सूचित करते रहे हैं।

रूस के प्रधानमंत्री दिमित्री मिदवेदेव ने दोनों देशों के बीच सैन्य टकराव को एक इंच की दूरी पर बताते हुए कहा कि अमेरिका ने अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन किया है। दूसरी तरफ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा टीम के साथ कई बैठकों के बाद आज फ्लोरिडा में मार ए-लागो रिसॉर्ट से सीरियाई इलाके में मिसाइल हमलों को हरी झंडी दे दी है।

हालांकि फिलहाल ट्रंप प्रशासन की अगली कार्रवाई का पता नहीं चला है, लेकिन इतना बताया गया है कि जो भी किया जाएगा वह निर्णायक और उचित ही होगा। यह भी स्पष्ट संकेत हैं कि इस बारे में रूस से राजनीतिक या सैन्य स्तर पर कोई बातचीत नहीं हुई है। इस बीच, रूस ने क्रूज मिसाइलों से लैस अपने लड़ाकू जहाजों को ब्लैक सी से बुलाकर सीरिया के बंदरगाह पर तैनात करने और सीरिया में पहले से तैनात मिसाइलों की नई खेप को तैनात करने के निर्देश दिए हैं। इससे स्पष्ट है कि रूस सीरिया में अपनी सैन्य क्षमताएं और मजबूत करने में जुट गया है।