इस देश में पड़ने वाला है पूर्ण सूर्य ग्रहण, छा जाएगा अंधेरा

नई दिल्ली ( 22 जून ): अमेरिका में पूर्ण सूर्य ग्रहण पड़ने वाला है। 21 अगस्‍त को सूर्य और पृथ्‍वी के बीच से चंद्रमा गुजरेगा। अमेरिका में पहली बार एक तट से दूसरे तट तक (तटीय) पूर्ण सूर्य ग्रहण की तैयारी कर रहा है। लाखों अमेरिकी इस दुर्लभ खगोलीय घटना को देखने के लिए काफी उत्साहित हैं।


यह 1918 के बाद लगने वाला पहला पूर्ण सूर्य ग्रहण है। लोग ओरेगन के लिंकन बीच से लेकर साउथ कैरोलिना के मैक्‍लेनविले के बीच इसे देख सकते हैं। एक वेबसाइट के अनुसार, कई ट्रैवल ग्रुप्‍स और वैज्ञानिक पूर्ण सूर्य ग्रहण का नजारा लेने के लिए ओरेगन के पश्चिमोत्‍तर रेगिस्‍तान की ओर रुख करेंगे। अमेरिका में ये सूर्य ग्रहण ग्रेट अमेरिकन इक्लिप्स के नाम से प्रसिद्ध हो रहा है। अमेरिकी महाद्वीप से ही इस पूर्ण सूर्य ग्रहण का पूरा नजारा देखा जा सकेगा। अमेरिका की कई ज्योग्राफिकल साइट्स पर अभी से ही इसकी बुकिंग हो रही है।


ग्रहण को देखने वाले चंद्रमा का 70 मील लंबा साया भी देख सकेंगे, जो पश्चिम में ऑरेगोन से लेकर पूरब में साऊथ कैरोलिना तक देखा जा सकेगा। इस साए से 14 राज्यों में लगभग 2 मिनट तक अंधकार होने का अनुमान है।


गौरतलब है कि पूर्ण सूर्य ग्रहण हर साल पृथ्‍वी पर कहीं ना कहीं पड़ता है। नासा ने कहा है कि सौर भौतिकी व अन्‍य प्रयोगों के लिए रिसर्च बैलून और एयरप्‍लेन उड़ाने की योजना है। वहीं करीब एक दर्जन अमेरिकी साइंस सैटेलाइट सूर्य और पृथ्‍वी का निरीक्षण करेंगे। यूएस स्‍पेस एजेंसी सूर्य ग्रहण का लाइव प्रसारण भी करने वाली है। विशेषज्ञों ने इस दौरान लोगों से एहतियात बरतने की भी हिदायत दी है।


इस दौरान स्पेसक्राफ्ट, नासा एअरक्राफ्ट और 50 से ज्यादा उच्च ऊंचाई के गुब्बाड़े के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर मौजूद अंतरिक्ष यात्री इस दृश्य के साक्षी होंगे। वाशिंगटन में नासा साइंस मिशन से जुड़े थॉमस जर्बुचेन ने कहा, इससे पहले इस तरह का दृश्य देखने के लिए इतने लोग इकट्ठा नहीं हुए. हालांकि, साल 2024 में भी टेक्सस में ऐसा दृश्य बनने की उम्मीद है।