इस 'स्टीलमैन' पर हथौड़े भी नाकाम, खिलौने की तरह उठा लेता है बाइक

कुरुक्षेत्र (12 मार्च): 'मर्द को दर्द नहीं होता' यह डायलॉग कुरुक्षेत्र के स्टीलमैन अमनदीप सिंह पर एकदम फिट बैठता है। ये बाइक को खिलौनों की तरह उठा लेते हैं, हथौड़े और लोहे के रॉड से मारने पर भी उन्हें दर्द नहीं होता। आपको ये बातें जानकर हैरान जरूर होंगे लेकिन ये सच है। इनके पास ऐसी ताकत है कि शरीर के ऊपर से गाड़ी भी गुजर जाए तो दर्द नहीं होता। 

बाहुबली अमनदीप सिंह ने इसके लिए लगभग दो साल तक क़ड़ी मेहनत की है। अमनदीप के अनुसार जब वे 12वीं कक्षा में थे तो उनके पिता का देहांत हो गया। इसके बाद परिवार की जिम्मेदारी उनके कंधों पर आ गई।

पेट पालने के लिए उन्होंने गिफ्ट का दूकान खोला। इसी दौरान उनका रुझान बॉडी बिल्डिंग की तरफ हुआ। वे एक ट्रेनर के पास गए लेकिन ट्रेनर ने उन्हें शरीर पर बाल होने के कारण ट्रेंड करने से मना कर दिया। इसके बाद अमनदीप ने बॉडी बिल्डिंग करने की ठान ली और साल 2006 से 2008 तक खूब पसीना बहाया और प्रोफेशनल बॉडी बिल्डर बन गए। 

जीत चुके हैं कई अवॉर्ड > 2005 में मिस्टर अंबाला का खिताब। > 2009 में इंटरनेशनल मॉडलिंग में दुनिया के 15 हजार सिखों में से मिस्टर सिंह चुने गए।  > 2010 में टीवी चैनल में हुए शो में टैलेंट ऑफ पंजाब अवॉर्ड  > 2011 में एंटरटेनमेंट के लिए कुछ भी करेगा नामक प्रोग्राम में स्टील मैन के साथ आयरन मैन का खिताब > 2016 में छत्तीसगढ़ के रायपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस में ओपन चैलेंज करने पर स्टील मैन ऑफ इंडिया का खिताब मिला।