50 साल का हुआ ATM, विश्व की पहली मशीन सोने में ढली

नई दिल्ली (27 जून): एटीएम नाम से चर्चित ऑटोमेटेड टेलर मशीन 50 साल की हो गई और आज वह अपना 50वां सालगिरह मना रहा है। लंदन में शुरू हुए इसके सफर की छाप से अब दुनिया का शायद की कोई कोना अछूता हो। आम जिंदगी में इसकी क्या जरूरत है, यह नोटबंदी का वक्त काटने वाले भारतीयों से बेहतर कोई नहीं जानता।


इसका सफर लंदन से शुरू हुआ और अपने पचास साल के सफर में ये दुनिया के सभी कोनों में स्थापित हो चुका है। भारत में एटीएम 90 के दशक में सिर्फ बड़े शहरों तक सीमित था। लेकिन अब ये बड़े शहरों से निकल कर छोटे शहरों में दस्तक दे चुका है।


50 साल पहले 27 जून 1967 में दुनिया का पहला एटीएम मशीन लंदन के एन्फ़ील्ड में बार्क्लेज़ बैंक की शाखा में खोला गया था। इसकी स्वर्ण जयंती पर बैंक ने इस मशीन को सोने का एटीएम बना दिया है।