Blog single photo

इमरान के मंत्री बोले, पाकिस्तान भी चीन की सहायता से 2022 में भेजेगा पहला अंतरिक्ष यात्री

आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान ने एक बार फिर भारत की देखादेखी अंतरिक्ष में इंसान भेजने का दम भरा है। भारत के मिशन चंद्रयान-2 पर उकसावे वाले बयान देने वाले पाकिस्तान

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(17 सितंबर): आर्थिक स्थिति से खस्ताहाल पाकिस्तान एक बार फिर भारत की होड़ करने की सोच रहा है, देखादेख अंतरिक्ष में अपना पहला यात्री भेजने का दम भर रहा है। 

भारत के मिशन चंद्रयान-2 पर उकसावे वाले बयान देने वाले पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि 2022 में उनका देश चीन के सहयोग से अंतरिक्ष में पहला यात्री भेजेगा। उन्होंने यह भी कहा कि मिशन की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं और 2020 में इसके लिए यात्रियों का चयन होगा।इमरान खान के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान के इस अंतरिक्ष मिशन के लिए चीन सहयोग कर रहा है। उन्होंने कहा, 'शुरुआत में 50 यात्रियों का चयन किया जाएगा और उनमें से फिर अगले राउंड में 25 यात्री जाएंगे। आखिरी में सिर्फ एक अंतरिक्ष यात्री का हम चयन करेंगे। इस पूरी प्रक्रिया में वायुसेना की भी प्रमुख भूमिका रहेगी।' बता दें कि इससे पहले जब उन्होंने पाकिस्तान के अंतरिक्ष मिशन की बात कही थी तो वह अपने ही देश में ट्रोल हो गए थे। उनसे सोशल मीडिया पर पाकिस्तानियों ने ही तैयारियों की डिटेल जारी करने के लिए कहा था।

चंद्रयान-2 की आलोचना करने पर घिर गए थे चौधरी

चंद्रमा की सतह से ठीक पहले विक्रम के खो जाने के एक ट्वीट पर फवाद चौधरी ने लिखा, 'जो काम आता नहीं, पंगा नहीं लेते ना....डियर इंडिया।' फवाद चौधरी ने एक भारतीय ट्वीट पर रिप्‍लाई करते हुए लिखा, 'सो जा भाई चंद्रमा की बजाय मुंबई में उतर गया खिलौना।' पाकिस्‍तानी मंत्री फवाद चौधरी के इस ट्वीट के बाद ट्विटर पर कॉमेंट की बाढ़ सी आ गई। उन्हें भारतीयों के साथ कुछ पाकिस्तानियों ने भी तीखी नसीहत दी।पाकिस्तानी लोगों ने फवाद के ट्वीट को गलत बताया

फवाद चौधरी के इस ट्वीट की खुद पाकिस्‍तानियों ने भी आलोचना की। सुलेमान ललवानी ने लिखा, 'पाकिस्‍तान की ओर से माफी। फवाद का ट्वीट दुर्भावना से ग्रस्‍त था।' एक अन्‍य पाकिस्‍तानी सैयद बिलावल कमाल ने लिखा, 'फवाद चौधरी हमारे लिए शर्मिंदगी की वजह न बनें। कम से कम भारत ने चांद पर उतरने का प्रयास किया। हमें किसी भी देश के वैज्ञानिक प्रयास की प्रशंसा करनी चाहिए और उससे प्रेरणा लेनी चाहिए।'

#IndiaFailed हैशटैग से किए थे कई ट्वीट

अंतरिक्ष में पाकिस्‍तानी अंतरिक्ष यात्री को भेजने के सपने देख रहे फवाद चौधरी ने शुक्रवार देर रात चंद्रयान-2 के चंद्रमा की सतह पर उतरने में असफल रहने पर #IndiaFailed हैशटैग के साथ कई जहर भरे ट्वीट किए थो। उन्‍होंने कहा कि भारत का खिलौना चंद्रमा की बजाय मुंबई में उतर गया। उन्‍होंने लिखा, 'जो काम आता नहीं, पंगा नहीं लेते ना....डियर इंडिया।' फवाद चौधरी के इस ट्वीट की बड़ी तादाद में पाकिस्तानी पत्रकारों और मशहूर हस्तियों ने भी आलोचना की थी।

Tags :

NEXT STORY
Top