वर्ल्ड मीडिया बोला- शरीफ कह रहे हैं कि हमला नहीं हुआ, फिर इतनी बैचेनी क्यों?

नई दिल्ली(1 अक्टूबर): भारत की सर्जिकल स्ट्राइक को दुनियाभर की मीडिया ने तवज्जो दी है। इन रिपोर्ट्स में कहा गया है कि मुंबई, पठानकोट और अब उड़ी के बाद भारत का सब्र टूट चुका था। ऐसे में यह उम्मीद करना बेमानी ही थी कि उरी हमले पर भी जवाब नहीं दिया जाएगा। 

इस्लामाबाद इस घटना को नकारता रहा है और शेखी मार रहा है। अगर हमला हुआ ही नहीं तो पाक पीएम शरीफ में इतनी बैचेनी क्यों है। क्यों वे इतनी मीटिंग कर रहे हैं?

वॉल स्ट्रीट जर्नल: पाकिस्तानी आतंक का अंत

- इस हेडलाइन से ऑर्टिकल में लिखा, ''सर्जिकल स्ट्राइक कर भारत ने पाकिस्तान को सीधा मैसेज दिया है कि अब वह और हमलों को बर्दाश्त नहीं करेगा।''

''उसने पाकिस्तान के खिलाफ ‘रणनीतिक रोकथाम’ के सिद्धांत को बढ़ाया है। इस्लामाबाद इस घटना को नकारता रहा है और शेखी मार रहा है। अगर हमला हुआ ही नहीं तो पाक पीएम शरीफ में इतनी बैचेनी क्यों है। क्यों वे इतनी मीटिंग कर रहे हैं।''

- ''यदि वो वाकई में हिंसा को फैलने से रोकना चाहता है तो उसे आतंकी ठिकानों को बंद करना होगा। भारत के ठोस सबूतों के बावजूद पाकिस्तान इन हमलों में उसके नागरिकों को हाथ होने से नकारता रहा है।''

- ''पाकिस्तान की लोकतांत्रिक सरकारों पर आतंकी संगठन हावी हैं। यही वजह है कि वह हक्कानी नेटवर्क पर भी कार्रवाई नहीं कर पा रहा है। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और लश्करे-ए-तैयबा के आतंकी खुले आम घूम रहे हैं। ऐसे ही रहा तो वह बिल्कुल अलग-थलग पड़ जाएगा। चीन भी साथ छोड़ देगा।''

न्यूयॉर्क टाइम्स: पाक को अलग कर रहा भारत

- अखबार ने एक सीनियर भारतीय अफसर के हवाले से लिखा, सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत अब पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए इकोनॉमी और डिप्लोमैटिक मोर्चे पर अलग-थलग करेगा। इसके लिए कई चरणों में कूटनीति बनाई जा रही है। इसमें आर्मी सिर्फ एक ऑप्शन है। भारत अन्य देशों और इंटरनेशनल कंपनियों से पाकिस्तान से बिजनेस घसीटने की अपील करेगा। पानी रोकने के लिए सिंधु नदी पर डैम बनाएगा।

डेलीमेल (ब्रिटेन): भारत ने चुकाया हिसाब

- भारत ने शुरू किया ऑपरेशन पे बैक। पीओके में आतंकियों के बेस पर हमला किया। 38 जेहादियों और उनके दो हैंडलरों को मार डाला। उड़ी में 18 की मौत पर जवाब देते हुए यह कार्रवाई की। चार घंटे के ऑपरेशन में सेना ने अपनी कुशलता दिखाई। यह पहला मौका है जब भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक का खुलासा किया। देश की सिक्युरिटी के लिए खतरों को खत्म करने के लिए यह पीएम मोदी की ताकतवर अप्रोच को दिखाता है।