क्या वजन घटाने से गई दुनिया की सबसे भारी महिला की जान ?

नई दिल्ली (25 सितंबर): इलाज के दौरान दुनिया की सबसे भारी महिला इमान अहमद की मौत हो गई है। अबू धाबी में इलाज के दौरान इमान अहमद ने आखिरी सांस ली। अबू धाबी के बुर्जिल अस्पताल में वजन कम करने के लिए उनका इलाज चल रहा था। डॉक्टरों के मुताबिक लगातार बिगड़ती स्थिति की वजह से उनकी मौत हुई। इमान की किडनी काम नहीं कर रही थी साथ उन्हें दिल की बीमारी भी हो गई। अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से लगभग 20 स्पेशलिस्ट डॉक्टर इमान का इलाज कर रहे थे।

इमान का इलाज कर रहे डॉक्टरों के मुताबिक उनकी हालत में काफी सुधार हो रहा था। इमान डिप्रेशन से भी उबर रही थीं, और उनकी मॉबिलिटी संबंधी परेशानी भी दूर हो रही थी। लेकिन अचानक उनकी मौत हो गई। बुर्जिल अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक उन्हें एक सेप्टिक शॉक हुआ इसकी वजह से उनके शरीर में जबर्दस्त संक्रमण हो गया। शनिवार को उन्हें आईसीयू में भर्ती किया गया। पिछले 24 घंटों में उनकी हालत बिगड़ गई और वह मल्टी ऑर्गन फेल्यूर का शिकार हो गईं।

जानकारों के मुताबिक अचानक वजन घटाने से शरीर के कई पार्ट्स बदलाव को एडजस्ट नहीं कर पाते। हालांकि, डॉक्टरों का कहना है कि किडनी के काम बंद कर देने और दिल संबंधी बीमारियों के कारण इमान की मौत हुई है।  इमान को 20 डॉक्टरों की टीम देखरेख कर रही थी। इमान को बचपन से थायरॉयड था।मुंबई के फेमस बेरियाट्रिक सर्जन मुज्जफल लकड़वाला की टीम ने इमान का इलाज किया था। डॉ लकड़ावाला के मुताबिक, स्लीवे गेस्ट्रोक्टॉमी और सुपरवाइज स्पेशल डाइट के कारण इमान ने दो महीने में अपना तकरीबन आधा वजन कम करने में सफलता पाई थी।

आपको बता दें कि जब इमान अहमद इलाज के लिए मुंबई आई थी तो उनका वजन 500 किलोग्राम से ज्यादा था। मुंबई के सैफी अस्पताल ने इमान की मुफ्त सर्जरी करके उनका वजन 250किलोग्राम कम कर दिया। मुंबई में तीन महीने तक रहने के बाद उन्हें आगे के इलाज के लिए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के वीपीएस हेल्थकेयर के बुर्जील अस्पताल में भर्ती कराया गया। इमान चार मई को यूएई पहुंची थी।