INDvsENG: विजय शंकर या रिषभ पंत किसे मिलेगा मौका, जानें- कप्तान कोहली ने क्या कहा ?

virat kohli

Image Credit: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (30 जून): आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 में आज को टीम इंडिया और मेजबान इंग्लैंड के बीच भिड़ंत होगी। इस मैच से पहले कप्तान विराट कोहली ने प्रेस कांफ्रेंस कर भारतीय टीम की तैयारियों के बारे में बताया। बर्मिंघम के मैदान पर होने वाले इस मैच से पहले विराट कोहली ने संकेत दिए हैं कि इंग्लैंड के खिलाफ मैच में रिषभ पंत को मौका नहीं मिलेगा। विराट कोहली ने विजय शंकर के खराब प्रदर्शन का बचाव करते हुए कहा, 'विजय शंकर की आलोचना होना अजीब सी बात है। पाकिस्तान के खिलाफ उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया था। अफगानिस्तान के खिलाफ भी उनका प्रदर्शन अच्छा था।

Image Credit: Google

विराट ने आगे बताया, 'हमने उनके शॉट सेलेक्शन पर बातचीत की है। वेस्टइंडीज के खिलाफ भी विजय शंकर अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे लेकिन रोच की अच्छी गेंद पर वो आउट हुए।' विराट कोहली ने आगे कहा, 'अभी हमने विजय शंकर को ज्यादा देखा नहीं है, वो बड़ी पारी के काफी करीब हैं, हमें विश्वास है कि वो जल्द ही अच्छी पारी खेलेंगे।' कप्तान विराट कोहली भले ही विजय शंकर का बचाव कर रहे हों लेकिन उनके आंकड़े कुछ और ही बयां कर रहे हैं। विजय शंकर ने इस वर्ल्ड कप में 3 पारियों में 29 के औसत से 58 रन बनाए हैं। उनका स्ट्राइक रेट महज 77.33 रहा है। गेंदबाजी की बात करें तो विजय शंकर को अबतक सिर्फ पाकिस्तान के खिलाफ गेंदबाजी का मौका मिला, जिसमें उन्होंने 2 विकेट हासिल किया।

विजय शंकर के खराब प्रदर्शन के बाद माना जा रहा था कि इंग्लैंड के खिलाफ प्लेइंग इलेवन में रिषभ पंत को मौका मिल सकता है। इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान माइकल वॉन सहित कई लोगों ने पंत को टीम इंडिया में मौका देने की वकालत की है। पंत को वर्ल्‍ड कप में शिखर धवन के चोटिल होने के बाद भारतीय टीम में जगह दी गई है। पंत की पहचान धुआंधार बल्‍लेबाज के रूप में होती है. हालांकि विराट कोहली का बयान तो कुछ अलग ही संकेत दे रहा है। 

इससे पहले पूर्व भारतीय कप्तान कृष्णामचारी श्रीकांत ने ऋषभ पंत को चौथे नंबर पर खिलाने की सलाह दी थी। 1983 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य श्रीकांत ने आईसीसी को लिखे अपने कॉलम में कहा कि अगर मैं टीम प्रबंधन में होता तो मुझे लगता है कि मैं पंत को चौथे नंबर पर उतारने के बारे में विचार करता। वे उन्हें यहां ले आए हैं, वह खेलने के लिए तैयार है और सबसे अहम बात यह है कि वह पहले भी इंग्लैंड में खेल चुके हैं इसलिए परिस्थितियों से अच्छी तरह से वाकिफ हैं। श्रीकांत ने कहा कि मध्यक्रम में विजय शंकर और केदार जाधव अभी तक प्रभावित नहीं कर पाए हैं। मुझे लगता है कि यह कहना सही होगा कि उन्हें थोड़े निखार की जरूरत है।