World Cup में आज अफगानिस्तान के सामने मेजबान इंग्लैंड की मुश्किल चुनौती

england ahg

Image:Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 जून): आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में  मंगलवार को मैनचेस्टर में मेजबान इंग्लैंड और अफगानिस्तान के बीच 24वां मुकाबला खेला जाएगा।  इंग्लैंड और अफगानिस्तान दोनों का इस टूर्नामेंट में यह पांचवां मैच होगा। दोनों टीमें पहली बार इंग्लैंड के मैदान पर आमने-सामने होंगी। मेजबान टीम तीन जीत के साथ अंक तालिका में चौथे स्थान पर है। वहीं, अफगान टीम अब तक एक भी मैच नहीं जीत सकी है। वह अंक तालिका में 10वें स्थान पर है।

मेजबान इंग्लैंड के लिए परेशानी की बात यह है कि उसके दो मुख्य खिलाड़ी जेसन रॉय और कप्तान इयॉन मॉर्गन चोटिल हैं। जेसन दो या तीन मुकाबलों में नहीं खेल पाएंगे। वहीं, मॉर्गन के खेलने का फैसला मैच से पहले लिया जाएगा। दूसरी ओर, अफगानिस्तान की टीम भी चोटिल विकेटकीपर मोहम्मद शहजाद के बिना ही खेलेगी। शहजाद की जगह आए इकरम अली खिल दो मैच में सिर्फ 11 रन ही बना सके हैं।

दोनों टीमें 4 साल बाद वनडे में आमने-सामने होंगी। पिछली बार सिडनी में खेले गए वर्ल्ड कप के मैच में इंग्लैंड को 9 विकेट से जीत मिली थी। दोनो टीमें वनडे में दूसरी बार आमने-सामने होंगी। अफगानिस्तान की टीम का इग्लैंड में यह चौथा मैच होगा। इससे पहले उसे सभी मैच में हार का ही सामना करना पड़ा है।

इंग्लैंड की ताकत की बात करें तो दुनिया के टॉप बल्लेबाजों में शामिल जो रूट ने इस टूर्नामेंट में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने चार मैच में 93 की औसत से 279 रन बनाए। इस दौरान दो शतक भी लगाए। रूट का स्ट्राइक रेट 97.55 का रहा है। उन्होंने पिछले मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ नाबाद 100 रन बनाए थे। टीम 8 विकेट से जीती थी। वहीँ इंग्लैंड के लिए पहली बार वर्ल्ड कप खेल रहे जोफ्रा आर्चर ने टीम के लिए सबसे ज्यादा 9 विकेट लिए हैं। तीन बार मैच में 3-3 विकेट लिए। आर्चर का इकॉनमी रेट भी टीम के सभी गेंदबाजों में बेहतर है। उन्होंने 4.74 की इकॉनमी रेट से रन दिए। इस दौरान उनका गेंदबाजी औसत 18.33 का रहा।

वहीँ अफगानिस्तान का कोई भी बल्लेबाज इस वर्ल्ड कप में कुल 100 रन नहीं बना सका है। सबसे ज्यादा 98 रन नजीबुल्लाह जादरान ने बनाए हैं। उनके अलावा सभी बल्लेबाज 80 रन से नीचे ही हैं। इंग्लैंड जैसी मजबूत बल्लेबाजी क्रम के सामने अगर वह पहले बल्लेबाजी करता है तो ज्यादा से ज्यादा रन बनाने होंगे। वहीं, रन चेज में उसे बड़े लक्ष्य का पीछा करना पड़ सकता है। ऐसे में टीम को एकजुट होकर बेहतर बल्लेबाजी करनी होगी।

मौजूदा समय में दुनिया के बेस्ट लेग स्पिनर माने जाने वाले राशिद खान अफगानिस्तान टीम के सबसे अहम सदस्य हैं। वे गेंदबाजी के साथ-साथ बल्लेबाजी करने में भी सक्षम हैं। हालांकि, उन्होंने इस टूर्नामेंट में अब तक 4 मैच में सिर्फ 3 ही विकेट ले सके हैं। टीम को राशिद से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी। पूरी टीम की गेंदबाजी उन पर ही निर्भर है। उन्हें विकेट भी लेना होगा और रन भी रोकना होगा जिससे दूसरे गेंदबाजों को भी सफलता मिल सके।

टीमें

इंग्लैंड : इयॉन मॉर्गन (कप्तान), जेसन रॉय, जॉनी बेयरस्टो, जो रूट, बेन स्टोक्स, जोस बटलर (विकेटकीपर), मोइन अली, क्रिस वोक्स, लियम प्लंकेट, जोफ्रा आर्चर, आदिल रशीद, टॉम करन, मार्क वुड, जेम्स विंस, लियम डॉसन।

अफगानिस्तान : गुलबदीन नइब (कप्तान), आफताब आलम, असगर अफगान, दौलत जादरान, हामिद हसन, हसमतउल्ला शाहिदी, हजरतउल्ला जजाई, मोहम्मद नबी, मोहम्मद शहजाद, मुजीब उर रहमान, नजीबुल्ला जादरान, नूर अली जादरान, रहमत शाह, राशिद खान, समीउल्ला शिनवारी।