'आधार' का मुरीद हुआ वर्ल्ड बैंक, कहा, अन्य देशों को 'सिखाए' भारत

नई दिल्ली(9 सितंबर): भारत के 'आधार' का डंका पूरी दुनिया में बजने वाला है। वर्ल्ड बैंक ने यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) से कहा है कि वह आधार योजना को लागू करने से जुड़े अपने अनुभव अन्य देशों के साथ शेयर करे।

- UIDAI के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर अजय भूषण पांडेय ने कहा कि नाइजीरिया वर्ल्ड बैंक के तत्वाधान में UIDAI मॉडल को स्टडी करने के लिए अपनी टीम भारत भेजने वाला पहला देश बन गया है। इस काम के लिए तंजानिया की एक टीम इसी महीने यहां आ रही है। 

- पांडेय ने कहा, 'यह सब वर्ल्ड बैंक के आइडेंटिफिकेशन फॉर डिवेलपमेंट (ID4D) अभियान के तहत हो रहा है। हम यहां आने वाली टीमों को नॉलेज एक्सचेंज के जरिए हर मुमकिन मदद देंगे।'

- ID4D पर बनी वर्ल्ड बैंक की साइट के मुताबिक दुनिया भर में डेढ़ अरब लोगों के पास उनकी लीगल आइडेंटिटी के प्रमाण के तौर पर कोई आधिकारिक, सरकारी या मान्यता प्राप्त डॉक्युमेंट नहीं है। इनमें से ज्यादातर लोग अफ्रीका और एशिया में हैं।