बैडमिंटन: वर्ल्ड चैम्पियनशिप आज से, 45 देशों के 357 खिलाड़ी ले रहे हैं हिस्सा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 अगस्त): वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप सोमवार को शुरू हो रहा है। यह टूर्नामेंट स्विट्जरलैंड के बासेल शहर में खेला जाएगा। इस टूर्नामेंट में भारत के लिए इस साल साइना नेहवाल, पीवी सिंधु और किदाम्बी श्रीकांत अहम किरदार निभाते नजर आएंगे। साइना और सिंधु ने विश्व चैम्पियनशिप में रजत जीते हैं, लेकिन अब तक कोई भारतीय स्वर्ण तक नहीं पहुंच सका है

इस टूर्नामेंट में 45 देशों के 357 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। भारत का 19 सदस्यीय दल चैम्पियनशिप में हिस्सा ले रहा है। सिंगल्स में भारत के 6 खिलाड़ी, डबल्स में 8 जोड़ियां उतर रही हैं। हाल ही में थाईलैंड ओपन जीतने वाली भारत की पुरुष डबल्स जोड़ी सात्विकसाईराज रैंकीरेड्‌डी और चिराग शेट्‌टी ने चोट के कारण टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया है। महिला में पीवी सिंधु औऱ साइना नेहवाल भारत के लिए खेलेंगी वहीं पुरुष सिंगल्स में किदांबी श्रीकांत, एचएस प्रणय, बीसाई प्रणीत और समीर वर्मा उतरेंगे।

महिला सिंगल्स की डिफेंडिंग चैम्पियन स्पेन की कैरोलिना मारिन चोट से रिकवरी कर रही हैं। इसलिए उन्होंने टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया। वर्ल्ड चैम्पियनशिप बैडमिंटन का सबसे बड़ा टूर्नामेंट है। 2017 और 2018 में रजत तथा 2013 व 2014 में कांस्य पदक जीत चुकीं सिंधु अगर यह बाधा पार करने में सफल रहीं, तो क्वार्टर फाइनल में उनका सामना वर्ल्ड नंबर-2 चीनी ताइपे की ताए जू यिंग से हो सकता है।

भारत को अब तक 8 मेडल, इसमें सिंधु के 4

भारत टूर्नामेंट में 8 मेडल (3 सिल्वर, 5 ब्रॉन्ज) जीत चुका है। प्रकाश पादुकोण ने सबसे पहले 1983 में पुरुष सिंगल्स में ब्रॉन्ज जीता। फिर ज्वाला गुट्‌टा-अश्विनी पोनप्पा ने 2011 में महिला डबल्स में ब्रॉन्ज जीता। साइना ने 2015 में सिल्वर और 2017 में ब्रॉन्ज जीता। सिंधु ने 4 मेडल (2013, 14 में ब्रॉन्ज और 2017, 18 में सिल्वर) जीते हैं।