इमरान के मुंह पर करारा तमाचा, मुस्लिम देश में श्रीनाथजी के मंदिर का पुनरुद्धार

narender modi

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(24 अगस्त): लगातार दूसरी बार पीएम बनने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी शनिवार को पहली बार बहरीन पहुंचे।  वह पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं जो बहरीन के दौरे पर हैं। उनके साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी मौजूद हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बहरीन के शाह हमद बिन इसा अल खलीफा से विभिन्न द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर व्यापक वार्ता करेंगे। बहरीन में प्रधानमंत्री मोदी ने वहां के प्रधानमंत्री प्रिंस खलीफा बिन सलमान अल खलीफा से मुलाकात की। बहरीन में मोदी खाड़ी क्षेत्र के सबसे पुराने मंदिर श्रीनाथजी के पुनरुद्धार के औपचारिक शुभारंभ का साक्षी बनेंगे। मोदी फ्रांस, संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन की अपनी तीन देशों की यात्रा के तीसरे चरण में यहां पहुंचे। संयुक्त अरब अमीरात में उन्होंने अबु धाबी के शहजादे शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान से वार्ता की और दोनों देशों के बीच व्यापार तथा सांस्कृतिक संबंध बेहतर करने के कदमों पर चर्चा की।

अबु धाबी के शहजादे, मोदी को एयरपोर्ट तक छोड़ने गए। बहरीन से मोदी का रविवार को जी7 शिखर बैठक में शामिल होने के लिए फ्रांस लौटने का कार्यक्रम है। बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी के साथ एनएसए अजित डोभाल भी बहरीन गए हैं। प्रधानमंत्री व्यापार के साथ रक्षा क्षेत्र के विषय को भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रमुखता दे रहे हैं।यूएई में भी प्रधानमंत्री ने आतंकवाद पर बात की और कहा कि कश्मीर का मामला भारत का आंतरिक विषय है। उन्होंने कहा ‘जहां तक अनुच्छेद 370 का सवाल है तो हमने अपने आंतरिक मसले पर पूर्ण रूप से लोकतांत्रिक, प्रत्यक्ष, पारदर्शी और संवैधानिक तरीके से कदम उठाए हैं। इन कदमों का मकसद अलगाव को समाप्त करना है जिसके कारण जम्मू-कश्मीर कुछ लोगों के निहित स्वार्थ के चलते अल्पविकसित रहा। इस अलगाव के कारण कुछ युवाओं को गुमराह किया गया उनको कट्टरपंथी बनाया गया और हिंसा व आतंकवाद के लिए प्रेरित किया गया।’ यूएई में प्रधानमंत्री मोदी को सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजा गया।