विश्व तीरंदाजी ने अभिनव बिंद्रा को AAI से झगड़े को सुलझाने के लिए नियुक्त किया

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 जून):  भारत के ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले शूटर अभिनव बिंद्रा को एएआई में जारी गड़बड़ी को सुलझाने के लिए विश्व तीरंदाजी द्वारा एक स्वतंत्र व्यक्ति के रूप में नियुक्त किया गया है। बिंद्रा को इस काम के लिए इसलिए दिया गया है क्योंकि विश्व तीरंदाजी ने भारतीय तीरंदाजी एसोसिएशन को नियम से छेड़-छाड़ करने के मामले में प्रतिबंध लगा दिया है। ओरोप है कि भारतीय तीरंदाजी एसोसिएशन चंडीगढ़ और दिल्ली में दो निकाय चला रहा है जो गलत है।

विश्व तीरंदाजी ने अभिनव बिंद्रा को स्वतंत्र रुप से इस समस्या को सुलझाने के लिए नियुक्त किया है। बिंद्रा भारत के जाने-माने एथिलिट हैं। विश्व तीरंदाजी के जेनरल सेक्रेट्री टॉम डाइलन ने मेल के जारिए भारतीए ओलंपिक संघ के अध्यक्ष को इसकी जानकारी दे दी है।

मशहूर शूटर अभिनव बिंद्रा इसके पहले आईओए के सलेक्शन पैनल में भी थे। उन्हें खेल मंत्री ने भारत में नए युवा खिलाड़ियों की खोज के लिए भी महत्वपूर्ण जिम्मेदीरी शैपी थी। बुधवार को एएआई को डी-लिस्ट करते हुए, डब्ल्यूए ने कहा है कि अगर सुप्रीम कोर्ट 31 जुलाई तक विवादास्पद चुनावों पर फैसला नहीं देता है, तो विश्व निकाय निलंबन के साथ आगे बढ़ेगा। निलंबन से एशियाई तीरंदाजी चैंपियनशिप, ओलंपिक क्वालीफाइंग इवेंट सहित किसी भी विश्व कार्यक्रम में भाग लेने से भारतीय तीरंदाजों को रोका जा सकेगा।

WA की धमकी की निंदा करते हुए, बत्रा ने पहले कहा था “समय देने के द्वारा विश्व तीरंदाजी द्वारा इस तरह का व्यवहार भारत में माननीय न्यायालयों के प्रति बहुत ही अपमानजनक और हतोत्साहित करने वाला है और विश्व तीरंदाजी को भारत में न्यायिक संस्थानों के प्रति अनादर दिखाने से बचना चाहिए।