खाड़ी में फिर बढ़ा तनाव, ईरान के ड्रोन को अमेरिका ने मार गिराया

us-iranImage Credit: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(19 जुलाई): खाड़ी में एकबार फिर तनाव बढ़ता दिख रहा है। खबरें आ रही है अमेरिका ने ईरान के एक ड्रोन को मार गिराया है। इससे पहले पिछले दिनों ईरान ने अमेरिका के एक ड्रोन को गिराया था। इससे अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस कदर नाराज हो गए थे कि उन्होंने अमेरिकी सैनिकों को ईरान पर हमले का आदेश दे दिया था, हालांकि बाद में उन्होंने इसे रोक दिया था। अब अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने बताया है कि हॉर्मूज जलडमरूमध्य में प्रवेश कर रहे एक US युद्धपोत के लिए खतरा बने ईरानी ड्रोन को गिरा दिया गया। ऐसे में पिछले कुछ हफ्तों से शांतिपूर्ण रहे खाड़ी क्षेत्र में एक बार फिर तनाव बढ़ गया है। गौर करने वाली बात यह है कि हाल के समय में तेजी से बदले घटनाक्रमों के बीच ईरान के साथ अमेरिकी फौज की यह पहली सीधी मुठभेड़ है।ट्रंप ने कहा कि ईरानी ड्रोन ने अमेरिकी जहाज और उसके चालक दल की सुरक्षा को चुनौती दी और उसके लिए खतरा पैदा करना चाहा, जिसके जवाब में अमेरिकी युद्धपोत ने कार्रवाई की। उन्होंने अन्य देशों से ईरान की निंदा करने की अपील की। ट्रंप ने अन्य देशों से अपने जहाजों की सुरक्षा करने का और जासूसी गतिविधियों पर नजर रखने का भी आह्वान किया।

अमेरिका के इस दावे को ईरान ने खारिज कर दिया है। ईरान के विदेश मंत्री मो. जारिफ ने ऐसी किसी घटना से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना के बारे में कोई सूचना नहीं है। ईरान ने अपना कोई ड्रोन नहीं खोया है।  वहीं ईरान के उप विदेश मंत्री अब्बास अर्घाची ने किसी भी ड्रोन के मार गिराए जाने की खबर से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि अमेरिका ने गलती से अपने ही ड्रोन को मार गिराया है। हम स्ट्रेट ऑफ हॉर्मुज में न तो कोई ड्रोन खो चुके हैं और न ही कहीं और। मुझे चिंता है कि यूएसएस बॉक्सर ने गलती से अपने ही यूएएस को गोली मार दी है। इससे पहले ईरान के विदेश मंत्री मो. जारिफ ने भी ऐसी किसी घटना से इनकार किया।

आपको बता दें कि अमेरिका और ईरान के बीच फिर से तनाव बढ़ने की यह खबर ऐसे समय में आई है जब ईरान ने हाल ही में एक 'विदेशी टैंकर' को अपने कब्जे में ले लिया है। बताया जा रहा है कि शिप पर पनामा का झंडा लगा है और आरोप है कि उसके 12 क्रू मेंबर्स ईंधन की तस्करी कर रहे थे।