गांगुली ने कहा- 'कोच चुनने में पहले वाली ग़लती नहीं करूंगा'

कोलकाता (21 जून) :  टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली पर टीम इंडिया का नया कोच चुनने की ज़िम्मेदारी है। सौरव ने कहा है कि वो इस मामले में वैसी ग़लती नहीं करेंगे जैसे कि उन्होंने 2005 में ग्रेग चैपल का नाम सुझा कर की थी।

किसी से छुपा नहीं है कि ग्रेग चैपल और गांगुली के बीच दो साल कैसे तल्ख रिश्ते रहे थे और आखिरकार गांगुली को कप्तानी छोड़नी पड़ी थी।

गांगुली ने अपनी किताब 'ए सेंचुरी इज़ नॉट एनफ'  की लॉन्चिंग के मौके पर कहा, "मुझे एक बार कोच को चुनने का अवसर मिला था। मैं समझता हूं कि 2005 में मैंने गलती कर दी थी (चैपल की नियुक्ति)। मुझे यही मौका एक बार फिर मिला है। मैने एक बार इंटरव्यू (चैपल का) लिया था लेकिन मैं उसमें अच्छा नहीं कर पाया।"

गांगुली ने कहा कि उम्मीद करता हूं कि क्रिकेट एडवाइज़री कमेटी इस बार सही तरीके से इस काम को अंजाम देगी। गांगुली ने कहा, "उम्मीद करता हूं इस बार हम सही करेंगे, जो कोई भी चुना जाएगा। सौभाग्य से इस बार मेरे पास सचिन, वीवीएस लक्ष्मण, बीसीसीआई सेक्रेटरी (अजय शिरके) और प्रेज़ीडेंट (अनुराग ठाकुर) का समर्थन हासिल है।"

गांगुली ने स्वीकार किया कि दो साल पहले खुद भी टीम इंडिया का कोच बनना उनके दिमाग में था। गांगुली ने कहा, "ईमानदारी से कहूं तो दो-ढाई साल पहले मैं सोचता था कि मैं इस जॉब (कोच) को चाहता हूं या नहीं। और आज मैं कोच चुन रहा हूं। ज़िंदगी ऐसे ही चलती है। मैंने इंटरव्यू नहीं दिया। उम्मीद करता हूं कि एक दिन मैं इसे (इंटरव्यू) दूंगा।"