'JNU को देशद्रोही गतिविधियों का अड्डा नहीं बनने देंगे'

नई दिल्ली (13 फरवरी): जेएनयू विवाद पर गृह राज्‍यमंत्री किरेन रिजीजू ने भी अपनी टिप्पणी की है। शनिवार को रिजीजू ने कहा कि इस प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्था को देशद्रोही गतिविधियों का अड्डा नहीं बनने दिया जा सकता। 

रिपोर्ट के मुताबिक, देशद्रोह के आरोप में जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी पर उन्होंने कहा, "हम जेएनयू को देशद्रोही गतिविधियों का अड्डा नहीं बनने दे सकते।" उन्होंने कहा, "अभिव्यक्ति की आज़ादी असीमित नहीं हो सकती। इस पर तर्कपूर्ण बंदिश होनी चाहिए।" 

रिजीजू ने कहा, "यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना थी, लेकिन ये कोई छोटे बच्चे नहीं हैं कि उन्हें यह नहीं पता हो कि वे क्या कर रहे हैं। अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर आप देश को गाली नहीं दे सकते।" उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस ने उपलब्ध सूचनाओं के आधार पर कार्रवाई की और किसी को भी राष्ट्रीय हित, देश की एकता एवं अखंडता के मुद्दे पर राजनीति नहीं करनी चाहिए। रिजीजू ने कहा कि जेएनयू के छात्रों को कुछ राजनीतिक पार्टियां बढ़ावा देती हैं।"