'महिला डायन बताकर अंगारों से जला देते हैं हाथ पैर'

नई दिल्ली (14 अगस्त): राजस्थान में सख्त कानून बनने के बावजूद हर साल दर्जनों महिलाओं को अंधविश्वास भरी ज्यादती डायन प्रथा का शिकार होना पड़ रहा है। डायन के नाम पर नंगा करके गांव में घूमाने, मुंडन कर देने,  अंगारों से हाथ-पैर जला देने और पीट-पीटकर मार डालने जैसी भयानक यातनाएं दी जाती हैं। ऐसी ही पारसी नाम की महिला को डायन घोषित कर दिया गया है। 

  - पारसी नाम की ये महिला चार माह से पिता के घर में रह रही है।

 - तीन साल पहले ही पारसी की शादी रायपुर थाने के तिलेश्वर गांव के मुकेश से हुई थी। मुकेश की पटवारी बहन इंद्रा को यह रिश्ता पसंद नहीं आया।

 - इसी बीच घर में दो बकरियां मर गई तो इंद्रा ने बकरियों के मौत के लिए पारसी को जिम्मेदार बताते हुए उसे डायन घोषित कर दिया। 

- पारसी के परिवार ने पुलिस का भी सहारा लिया लेकिन उसे वहां से भी न्याय नहीं मिला। रायपुर और करेड़ा पुलिस थानों में शिकायत की गई लेकिन सास-ससुर  को एक-दो दिन हवालात में रखकर छोड़ दिया गया।