मासूम बेटियों को मंदिर में छोड़ इस महिला ने उठाया यह कदम

कानपुर (9 अप्रैल): कानपुर की घाटमपुर तहसील के भीतरगांव की महिला अन्नपूर्णा ने ट्रेन से कटकर जान दे दी। महिला अपने पीछे दो मासूम बेटियां को देवी मंदिर में छोड़ कर चल बसी। दोनों बेटियां घाटमपुर स्थित कूष्माडा देवी मंदिर में मिलीं। जिनमें एक ढाई साल और दूसरी छह माह की बताई गई है।
 
अन्नपूर्णा की शादी विपिन कुमार से साल 2003 में हुई थी। अन्नपूर्णा के घर वालों ने आरोप लगाया है कि वह हमारी लड़की को को ससुराल वाले दहेज के लिए प्रताडि़त करते थे। इस बीच उसने दो बेटियां को जन्म दिया तो ससुरालवालों की प्रताडऩा व उलाहने उसके लिए और बढ़ गए। मृतका के भाई ने बताया कि जब से अन्नपूर्णा की शादी हुई थी तभी से ससुराल वाले उसको दहेज के लिए प्रताडि़त करते और मारते-पीटते थे।
 
आरोप है कि पिछले चार पांच दिन पहले ससुराल वालों ने मारपीट कर अन्नपूर्णा और उसकी बेटियों को घर से निकाल दिया था। जिसके बाद वो कहां रही उसका पता नहीं चला। पुलिस ने मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है। पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र नाथ तिवारी ने बताया कि परिजनों ने मृतका के ससुरालवालों के खिलाफ दहेज की मांग, मारपीट और आत्महत्या के लिए उकसाने की शिकायत दर्ज कराई है और जांच की जा रही है।