यहां महिलाओं ने दिखाई हिम्मत, खोद डाले 190 कुएं


नई दिल्ली (10 जुलाई): जो लोग महिलाओं को कमजोर समझकर उन्हें बराबरी का मौका नहीं देते, उनके लिए यह खबर किसी तमांचे से कम नहीं है। केरल के एक गांव की 300 महिलाओं ने अपने दम पर एक, दो या तीन नहीं 190 कुएं खोदे और लंबे समय से चल रही पानी की समस्या का हल खोज निकाला।


उम्रदराज महिलाएं भी बांस की सीढ़ियों की मदद से नीचे गड्ढे में उतरकर पानी की तलाश में कुदाल और फावड़े से खुदाई करती थीं। केरल के पलक्कड़ जिले के एक गांव की इन महिलाओं न इस दौरान कितनी ही तकलीफों का सामाना किया, लेकिन वे अपने लक्ष्य से पीछे नहीं हटीं।


35 से 70 साल की इन महिलाओं ने सूखे से जूझ रहे अपने गांव में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (MGNREGS) के तहत पिछले अगस्त से अब तक 190 कुएं खोद लिए हैं। इस गांव में केवल कुएं और छोटे तालाब ही पानी का जरिया हैं।


महिलाओं ने चट्टानी जमीन में 10-12 मीटर गहरे कुएं बिना किसी मशीन की मदद से खोदकर एक नई मिसाल कायम की।