महिलाएं इसलिए करती हैं ऑर्गैजम का नाटक...

नई दिल्ली (28 जुलाई): महिलाओं के दिल की बात आसानी से नहीं जाना जा सकता। वह अपनी मर्जी के हिसाब से पुरुष के सामने अपनी बात रखती है। ऐसा ही कुछ वह बिस्तर पर भी करती है। अपने कड़वे अनुभवों को साझा करते हुए कुछ महिलाओं ने बताया कि वह संबंध बनाते हुए पुरुषों को संतुष्ट करने या उन्हें खुश करने के लिए ऑर्गेजम होने का नाटक करने लगती हैं।

एक स्टडी से महिलाओं के फेक ऑर्गैजम के बारे में कई बातें सामने आई हैं। यह स्टडी ब्रिटेन के विंडसर में ब्रिटिश सायकलॉजिकल सोसायटी साइकॉलजी ऑफ वुमेन ऐनुअल कॉन्फ्रेंस में पेश की गई है।

- स्टडी में रिसर्चर्स ने 19-28 आयुवर्ग की कम से कम एक साल से सक्रिय रूप से सेक्स कर रही महिलाओं के एक छोटे समूह पर अध्ययन किया। - इस स्टडी में महिलाओं से साक्षात्कार लेकर यह जानने की कोशिश की गई कि वे सेक्स के दौरान किन परेशानियों का सामना करती हैं और फेक ऑर्गैजम के बारे में उनके क्या अनुभव हैं? - कुछ महिलाएं फेक ऑर्गैजम को लेकर सकारात्मक थीं और इन महिलाओं का कहना था कि फेक ऑर्गैजम से उनकी कामोत्तेजना बढ़ती है। - अधिकतर महिलाओं ने बताया कि वे फेक ऑर्गैजम का सहारा अनचाहे और खराब सेक्स से छुटकारा पाने के लिए करती हैं। - इन महिलाओं के लिए सेक्स सुखदायी एहसास नहीं होता है और इससे छुटकारा पाने के लिए वह अपने साथी के सामने फेक ऑर्गैजम का नाटक करती हैं। - अधिकतर महिलाएं अपनी मर्जी के बिना किए सेक्स को 'रेप' कहने से हिचकिचाई जबकि उनका सेक्स का अनुभव कुछ-कुछ वैसा ही था। - अधिकतर महिलाओं ने 'रेप' शब्द से बचते हुए इस तरह के सेक्स के लिए 'खराब सेक्स' शब्द का इस्तेमाल किया।

-फेक ऑर्गैजम महिलाओं के लिए 'खराब' सेक्स से जल्दी से छुटकारा पाने का तरीका भी बन रहा है।